Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

कांग्रेस पर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी का हमला, कहा- देश में ब्रिटिश विरासत चाहती है पार्टी

नई दिल्ली। नए संसद भवन के शिलान्यास समारोह का बहिष्कार करने वाली कांग्रेस पर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने हमला बोला है। उन्होंने पार्टी पर भारत में ब्रिटिश विरासत को जारी रखने का आरोप लगाया है। गुरुवार को हुए आयोजन के बाद केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘कांग्रेस ब्रिटिश विरासत को जारी रखना चाहती है। पहले की तरह, वे शाम 5 बजे वार्षिक बजट पेश करते थे क्योंकि अंग्रेज ऐसा करते थे।’ उन्होंने आगे कहा कि 100 साल पहले बनाए गए संसद भवन में जगह की कमी है। इसी कारण नए संसद भवन के निर्माण का निर्णय लिया गया है।

जोशी ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, ‘जहां तक ​जगह और आधुनिक तकनीक का सवाल है, यही वजह है कि नई संसद भवन बनाने का फैसला किया गया। उम्मीद है कि 2022 के शीतकालीन सत्र का आयोजन वहीं किया जाएगा।’

विपक्षी नेताओं की अनुपस्थिति पर, जोशी ने आगे कहा, ‘हमने उन्हें आमंत्रित किया था और मैंने विपक्षी दलों से बात भी की थी।’ बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को संसद भवन परिसर में नए संसद भवन का शिलान्यास किया। एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि, नई संसद त्रिकोणीय आकार की, आधुनिक, अत्याधुनिक और अच्छी पावर सप्लाई वाली इमारत होगी, जिसमें अत्यधिक गैर-सुरक्षात्मक सुरक्षा सुविधाएं मौजूद होंगी। लोकसभा और राज्यसभा मौजूदा से काफी बड़ी होंगी। नए संसद भवन में लोकसभा में 888 सदस्यों और राज्यसभा में 384 सदस्यों के लिए बैठने की क्षमता होगी, जबकि वर्तमान में लोकसभा में 543 और राज्यसभा में 245 लोगों के बैठने की क्षमता है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News