Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

25 साल के दलित ने पार्टी का खाना टच किया तो उच्च जाति के लोगों ने लाठी डंडों से पीट-पीटकर ले ली जान

वाशिंगटनः अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भारतीय-अमेरिकी डॉ. विवेक मूर्ति को सर्जन जनरल नामित किया है। बाइडेन ने भरोसा जताया है कि जाने माने भारतीय अमेरिकी चिकित्सक कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने और विज्ञान एवं चिकित्सा में लोगों का भरोसा बहाल करने में अहम भूमिका निभाएंगे। डॉ. मूर्ति (43) ओबामा प्रशासन में अमेरिका के सर्जन जनरल थे और उन्हें डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद अचानक पद छोड़ना पड़ा था। बाइडेन ने मंगलवार को कहा, ‘‘डॉ. मूर्ति जन स्वास्थ्य एवं चिकित्सा संबंधी मामलों में मेरे सबसे विश्वसनीय सलाहकारों में शामिल होंगे और मैं जन सेवा जारी रखने के लिए उनका आभारी हूं।”

उन्होंने डॉ. मूर्ति को एक ‘‘प्रतिष्ठित चिकित्सक एवं अनुसंधान वैज्ञानिक” बताते हुए कहा कि वह इस पद पर दूसरी बार सेवाएं देंगे। बाइडेन ने कहा, ‘‘अपने पहले कार्यकाल में उन्होंने नशीले पदार्थों से लेकर मानसिक स्वास्थ्य जैसे जनस्वास्थ्य से जुड़े कुछ बड़े मसलों से निपटने में मदद की थी।” उन्होंने कहा, ‘‘वह कोविड-19 से निपटने, विज्ञान एवं चिकित्सा में जनता का भरोसा फिर से कायम करने में ही अहम भूमिका नहीं निभाएंगे, बल्कि वह मेरे भी अहम सलाहकार होंगे और मानसिक स्वास्थ्य, नशा, स्वास्थ्य पर असर डालने वाले सामाजिक एवं पर्यावरणीय कारकों जैसे जन स्वास्थ्य के वृहद मामलों पर भी सरकार का रुख तय करने में मेरी मदद करेंगे।” बाइडेन ने कहा, ‘‘सबसे बड़ी बात यह है कि वह संभावनाओं से भरे स्थान के रूप में इस देश में लोगों का भरोसा फिर से कायम करने में मदद करेंगे।

वह भारतीय प्रवासियों के बेटे हैं, जिन्होंने अमेरिका के वादे पर भरोसा करते हुए अपने बच्चों का पालन-पोषण किया।” डॉ. मूर्ति इससे पहले 2014 से 2017 तक इस पद पर सेवाएं दे चुके हैं और इस समय सत्ता हस्तांतरण के दौरान बाइडेन के कोविड-19 सलाहकार बोर्ड के सह अध्यक्ष हैं। डॉ. मूर्ति ने कहा कि वह अमेरिकियों की देखभाल करने के लिए स्वयं को समर्पित करेंगे, हमेशा विज्ञान एवं तथ्यों पर आधारित बात करेंगे और दुनिया के ऐसे देश की सेवा करने के लिए सदा आभारी रहेंगे, जहां भारत के एक गरीब किसान के पोते को नवनिर्वाचित राष्ट्रपति पूरे देश के स्वास्थ्य की देखभाल करने को कह सकते हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News