Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू क्वारंटाइन, कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने के बाद कराया था टेस्ट

तेल अवीव। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने के बाद क्वारंटाइन हो गए हैं। प्रधानमंत्री नेतन्याहू के कार्यालय से दी गई जानकारी के मुताबिक उनका रविवार और सोमवार को कोविड-19 टेस्ट कराया गया था, जिसमें वे निगेटिव पाए गए हैं। वह शुक्रवार तक क्वारंटाइन रहेंगे। ज्ञात हो कि अप्रैल माह में एक सप्ताह में दो अलग-अलग स्थानों पर कोरोना पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आने पर 71 वर्षीय प्रधानमंत्री क्वारंटाइन हो गए थे।

वह पिछले मंगलवार को लिकुड कोर्ट के अध्यक्ष माइकल क्लेनर के संपर्क में आए थे। क्लिनर पिछले सोमवार को कोरोना पॉजिटिव पाए । जेरूसलम पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, वित्त मंत्री इजराइल काट्ज ने भी पिछले मंगलवार को क्लेन से मुलाकात की।

कोरोना महामारी की स्थिति और इसके लगातार प्रसार को देखते हुए हाल के महीनों में इजरायल कैबिनेट की बैठकें वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हुईं, इसलिए नेतन्याहू क्वारंटाइन में रहते हुए भी अपना काम कर रहे थे।

इस बीच इजरायल के स्वास्थ्य मंत्री यूली एडेलस्टीन ने कहा कि देश का सामूहिक COVID-19 टीकाकरण कार्यक्रम 27 दिसंबर की प्रस्तावित तारीख से पहले शुरू हो सकता है।

इजरायल और भूटान ने स्थापित किए राजनयिक संबंध

इजरायल और भूटान ने शनिवार को औपचारिक तौर पर राजनयिक संबंध स्थापित कर लिए। इस मौके पर दोनों देशों ने कहा कि इससे बेहतर सहयोग के मार्ग खुलेंगे खासकर तकनीक, कृषि और जल प्रबंधन के क्षेत्र में।भारत में भूटान के राजदूत मेजर जनरल वेत्सोप नामग्याल और भारत में इजरायल के राजदूत रोन मलका ने इजरायली दूतावास में औपचारिक तौर पर राजनयिक संबंध स्थापित करने के संबंध में ‘नोट्स वर्बल’ (राजनयिक पत्र) का आदान-प्रदान किया।

इसे ऐतिहासिक दिन बताते हुए मलका ने कहा कि इस ऐतिहासिक क्षण का हिस्सा बनकर और आधिकारिक नोट पर हस्ताक्षर करके वह सम्मानित और उत्साहित महसूस कर रहे हैं। समारोह के बाद भूटान के विदेश मंत्री तांडी दोरजी और इजरायल के विदेश मंत्री गबी एश्केनाजी ने आपसी बधाई संदेश भेजे। औपचारिक राजनयिक संबंध नहीं होने के बावजूद इजरायल और भूटान के बीच सद्भावपूर्ण रिश्ते रहे हैं।

वर्ष 1982 से इजरायल भूटान के मानव संसाधन विकास का समर्थन करता रहा है, खासकर कृषि विकास के क्षेत्र में जिससे सैकड़ों भूटानी युवा लाभान्वित हुए हैं। बता दें कि इजरायल ने हाल में खाड़ी देशों संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन के साथ भी राजनयिक रिश्ते कायम किए हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News