Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ

इंदौर: इंदौर में भाजपा महासचिव कैलाश विजय वर्गीय के कमलनाथ सरकार गिराने में पीएम मोदी की भूमिका वाले बयान के बाद मध्य प्रदेश की सियासत गरमा गई है। कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि इस विजयवर्गीय के इस बयान के बाद खुद भाजपा के वो आरोप जिनमें वे हमेशा से कहती आई है कि कांग्रेस के अंदरूनी लड़ाई के कारण सरकार गिरी निराधार हो गए। सलूजा ने किसान सम्मेलन के दौरान निकाले गए ट्रैक्टर रैली को भाजपा का फ्लॉप शो बताया।

कांग्रेस नेता ने ट्वीट के जरिए भाजपा को घेरा और कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने किसान सम्मेलन के मंच से कांग्रेस के उन तमाम आरोपों की पुष्टि कर दी है कि प्रदेश की लोकप्रिय , जनादेश वाली कमलनाथ सरकार को बीच समय में पीएम नरेंद्र मोदी के इशारे पर गिराया गया है।
सलूजा ने कहा कि भाजपा शुरू से ही झूठ कहती आई है कि कांग्रेस की सरकार गिराने में उसका कोई योगदान नहीं है ,कांग्रेस के अंदरूनी संघर्ष के कारण प्रदेश की कांग्रेस सरकार गिरी है लेकिन आज कैलाश विजयवर्गीय की बात स्पष्ट हो गई कि प्रदेश में चुनी हुई कांग्रेस की सरकारों को असंवैधानिक तरीक़े से गिराने में देश के सर्वोच्च पद पर बैठे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ही हाथ है।

ट्रैक्टर रैली को बताया फ्लॉप शो…
कांग्रेस नेता ने इंदौर के दशहरा मैदान पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान , भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ,प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की मौजूदगी में हुए किसान सम्मेलन से किसानों ने पूरी तरह से दूरी बनायी , भाजपा कार्यकर्ताओं को बुलाकर किसान बनाकर सम्मेलन में बैठाया गया , फिर भी सम्मेलन फ़्लॉप रहा। जो किसान सम्मेलन में किसान नहीं जुटा पाए वो 4 लाख किसानो को ट्रैक्टर से दिल्ली भेजने की बात कर रहे हैं ?
सलूजा ने कहा कि पूरे शहर ने इंदौर में पूर्व में आयोजित कैलाश विजयवर्गीय की फ़्लॉप ट्रैक्टर रैली देखी है , जिसमें किसान तो नहीं थे सिर्फ़ ख़ाली ट्रेक्टर ही थे और कंपनियों से बगैर नंबर के नए ट्रैक्टर बुलाकर ख़ाली ही रैली में शामिल किये गये थे।

कृषि कानून किसानों को बर्बाद कर देंगे…
सलूजा ने कहा कि इंदौर के किसानों ने इस किसान सम्मेलन से इसलिए दूरी बनाई क्योंकि किसान भली-भांति जानता है कि केंद्र की मोदी सरकार ,प्रदेश की शिवराज सरकार घोर किसान विरोधी सरकारें है। तीन नए काले कृषि कानून किसान पूरी तरह से किसान विरोधी हैं और यह किसानों को बर्बाद कर देंगे ,एमएसपी को खत्म कर देंगे, मंडियों को खत्म कर देंगे,जमाखोरी-कालाबाजारी को बढ़ावा देंगे, इसीलिए देश भर के किसान पिछले 21 दिन से दिल्ली की सीमाओं पर कड़ाके की ठंड में अपने परिवारों के साथ बैठकर इन किसान बिलों का विरोध कर रहे हैं।

नरोत्तम मिश्रा पर तंज… 
सलूजा ने कहा कि नरोत्तम मिश्रा कांग्रेस की तुलना ताश की गड्डी से कर रहे हैं यह सही है कि शायद नरोत्तम मिश्रा ताश के खेल को भलीभांति जानते है वो तो प्रदेश में भाजपा का बादशाह बनना चाहते थे लेकिन अपने प्रभाव वाली एकमात्र डबरा सीट नहीं जीता पाने के कारण वो बादशाह तो नहीं बन सके , वर्तमान बादशाह  ने उन्हें मात देकर गेम से ही बाहर कर दिया। वैसे भी कांग्रेस की पूरी सहानुभूति उनके साथ है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News