Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

दर्दनाक हादसे का सुखद अंत: 3 लोगों समेत अनियंत्रित बोलेरो गहरी नदी में समाई

कटनी: कटनी में एक भीषण सड़क हादसा हो गया जहां पीरबाबा के निवार नदी में एक तेज रफ्तार भाग रही बोलेरो पुल से नीचे गिर गई। बताया जा रहा है कि बोलेरो पर भारत सरकार लिखा हुआ था और उसके सभी खिड़कियां बंद थी। मंगलवार सुबह नदी के किनारे लोगों का हूजुम जमा हो गया। नदी में डूबी बोलेरो को देखकर उन्हें लगा कि इसमें कुछ लोग फसे हुए हैं उन्होंने तुरंत पुलिस को कॉल किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने जेसीबी क्रेन की मदद से काफी मशक्कत से बोलेरो को बाहर निकाला। अभी सभी लोग गाड़ी के हादसे के बारे में जानने को उत्सुक थे कि इसी बीच गाड़ी के मालिक का पिता वहां आ गया और उन्होंने पूरी कहानी सुनाई।

असल में ये था मामला
बोलेरो मालिक के पिता रोहित तिवारी के अनुसार, मंगलवार रात 2 बजे के करीब इस बोलेरो को ड्राइवर चला रहा था और इसमें उनका बेटा रोहित और एक और साथी सवार था लेकिन जैसे ही वे तीनों पीरबाबा के निवार नदी के पास तो बोलेरो अनियंत्रित हो पुल से नीचे नदी में जा गिरी। हालांकि तीनों लोग सुरक्षित बाहर आ गए थे जिसकी सूचना उन्होंने सुबह पुलिस को दी लेकिन इसी बीच इससे पहले ही घटनास्थल पर लोगों का हूजुम जमा हो गया। हालांकि यह एक दर्दनाक हादसा साबित हो सकता था लेकिन सभी सुरक्षित बाहर आ गए।

वही इस मामले में माधवनगर थाना के अंतर्गत झिझरी पुलिस चौकी प्रभारी रश्मि सोनकर ने बताया कि उन्हें सुबह जैसे ही सूचना मिली वह अपने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची बोलेरो को नदी में डूबा देख यह संदेह हुआ की कुछ लोग फसे हो सकते है जिसे तुरंत ही जेसीबी क्रेन की मदद से बाहर निकलवाया जिसमें कोई नहीं था साथ ही बुलेरो मालिक के कहे अनुसार बोलेरो में तीन लोग सवार से जब हादसा हुआ और वह खुद बुलेरो से निकल आए थे

यह गाड़ी रेल्वे में लगी हुई थी जिसकी जांच की जा रही है कि कब तक यह गाड़ी रेल्वे में लगी थी। बोलेरो मालिक के पिता अनुसार, यह बोलेरो रेलवे में लगी हुई थी इसलिए इसमें भारत सरकार लिखा हुआ है और बोलेरो उनके बेटे रोहित तिवारी की है जो देवरी ग्राम के रहने वाले है अभी फिल हाल एमईएस कॉलोनी में रहते है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News