Cover
ब्रेकिंग
शिव ’राज’ में महापाप, पिता-चाचा समेत मासूम के साथ बर्बरता, फिर ट्रैक्टर से रौंदकर हत्या लिफ्ट में फंसे 5 साल के बच्चे की दर्दनाक मौत, CCTV में कैद हुई घटना ओवैसी के गढ़ में गरजे अमित शाह, बाेले- हैदराबाद का अगला मेयर बीजेपी का होगा मुंबईः उर्मिला मातोंडकर की राजनीति में फिर से एंट्री, कल शिवसेना में होंगी शामिल देव दीपावली: कल वाराणसी जाएंगे PM मोदी, गंगा के किनारे जलाए जाएंगे 11 लाख दीये महबूबा मुफ्ती का बड़ा आरोप, कहा- मोदी सरकार करना चाहती है पूरे मुल्क के टुकड़े Indian Idol 12 होस्ट आदित्य नारायण की शादी की रस्में शुरू, तिलक सेरेमनी का वीडियो आया सामने तेजस्‍वी का CM नीतीश पर तंज- बिहार में अपराधियों की बहार, जनता डरी तो बेबस बनी सरकार उत्तर भारत में सर्दी का सितम जारी, दिल्ली में 10 साल में सबसे अधिक ठंड मन की बात में बोले पीएम मोदी- नए कृषि कानून से किसानों को मिले नए अधिकार, नए अवसर

प्रयागराज में परिवार समेत ‘वीरू’ चढ़ा पानी की टंकी पर, अधिवक्‍ता ने की सीबीआइ जांच की मांग

प्रयागराज। हरदोई के रहने वाले अधिवक्ता विजय प्रताप शनिवार सुबह परिवार समेत बेली स्थित पानी की टंकी पर चढ़ गए। यह देखकर लोगों के होश उड़ गए। सूचना पाकर कैंट समेत कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस-प्रशासन के अफसर भी पहुंचे। टंकी पर चढ़ी परिवार को नीचे उतरने को कहा, लेकिन कई मामले की सीबीआइ जांच कराने की मांग की गई। अफसरों ने मामला हरदोई का बताया तो अधिवक्ता ने चेतावनी दी कि भूख हड़ताल में अगर किसी प्रकार का व्यवधान उत्पन्न किया गया तो पेट्रोल छिड़ककर परिवार समेत आत्मदाह कर लेगा।

हरदोई के रहने वाले विजय प्रताप अधिवक्ता हैं। शनिवार सुबह करीब सात बजे अपने परिवार के पांच सदस्यों के साथ वहां कैंट के बेली मुहल्ले में पहुंचे। उस समय वहां सन्नाटा था। विजय प्रताप समेत छह लोग सीढ़ी के सहारे पानी की टंकी पर चढ़ गए। कुछ देर बाद उधर से गुजर रहे लोगों की नजर उन पर पड़ी तो दंग रह गए। पलभर में पूरे मुहल्ले के लोगों के बीच यह खबर फैल गई। लोग मौके पर पहुंचे और सभी से नीचे उतरने को कहा, जिस पर इन्कार कर दिया गया।

सूचना पाकर कैंट इंस्पेक्टर नीरज बालिया मौके पर पहुंचे। उन्होंने विजय प्रताप से नीचे उतरने को कहा तो उन्हें वापस लौट जाने को कहा। मामला गंभीर देख इंस्पेक्टर ने पुलिस-प्रशासन के अफसरों को सूचना दी। कुछ ही देर में कई थानों की पुलिस, अधिकारी, दमकल कर्मी, एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई। अधिकारियों ने विजय प्रताप से नीचे उतरने को कहा, जिस पर वह बोला कि हरदोई में उसके भाई को गायब कर दिया गया। जमीन पर कब्जा कर घर फंसा दिया गया।

डीएम हरदोई पर आरोप लगाया कि उन्होंने उसे गांव से भगा दिया। गांव का एक दबंग इतना शक्तिशाली है कि उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही है। दबंग का भाई डीआइजी कार्यालय में दारोगा है। इसलिए इस पूरे प्रकरण की सीबीआइ जांच होनी चाहिए। अधिकारियों ने मामला हरदोई का होना बताया तो उसने कहा कि अगर कुछ नहीं कर सकते तो उसे परिवार समेत टंकी पर भूख हड़ताल पर बैठने दिया जाए। इसमें अगर कोई व्यवधान उत्पन्न किया गया तो उसके पास 20 लीटर पेट्रोल है, जिसे छिड़ककर वह परिवार समेत आत्मदाह कर लेगा। इंस्पेक्टर नीरज बालिया का कहना है कि विजय प्रताप अधिवक्ता है। बहुत समझाने के बाद भी वह पानी की टंकी से नीचे नहीं उतर रहा है। उसे मनाने की कोशिश हो रही है। उसके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया जाएगा।

विजय प्रताप ने इससे पहले हरदोई और लखनऊ में भी ऐसा किया है। हरदोई में दो और लखनऊ में एक बार वह पानी की टंकी पर चढ़ चुका है। बार-बार वह मामलों को लेकर सीबीआइ जांच की मांग कर रहा है, जबकि मामला हरदोई न्यायालय में चल रहा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News