फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ MP में मुस्लिमों का प्रदर्शन, कांग्रेस MLA बोले- मोदी सरकार विरोध करे

भोपाल: फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मैन्युअल मैक्रों के बयान को लेकर दुनिया भर में मुस्लिमों का आक्रोश बढ़ रहा है। मध्य प्रदेश में भी इसका विरोध देखने को मिला जहां कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने मांग की है कि भारत सरकार फ्रांस स्थित भारतीय दूतावास को कहे कि वो मुस्लिम विरोधी रुख को लेकर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं। इसे लेकर भोपाल के इकबाल मैदान में भी विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में हजारों की संख्या में लोग एकत्र हुए और फ्रांस के राष्ट्रपति का कड़ा विरोध किया। साथ ही उनसे माफी मांगने की अपील की। हालांकि इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का जमकर उल्लंघन किया गया जिसके चलते भोपाल पुलिस ने विधायक आरिफ मसूद समेत 2 हजार अज्ञात लोगों पर कोरोना गाइडलाइन का पालन ना करने का लेकर एफआईआर दर्ज की है।

फ्रांस के राष्ट्रपति के बयान को कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद  ने कहा कि उन्होंने भारत में रह रहे मुस्लिमों को आहत किया है, इसलिए भारत के प्रधानमंत्री को या निर्णय लेना चाहिए कि फ्रांस से अब हमें आयात-निर्यात बंद कर दिया जाए।

शांति भंग करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा
मध्यप्रदेश शांति का टापू है। इसकी शांति को भंग करने वालों से हम पूरी सख्ती से निपटेंगे। इस मामले में 188 IPC के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जायेगा, वो चाहे कोई भी हो।

बता दें कि फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मैन्युअल मैक्रों ने पैगंबर हजरत मोहम्मद का कार्टून को लेकर अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया था। यही वजह है कि विश्व भर के मुस्लिम समुदाय में आक्रोश है और उनसे माफी मांगने की अपील की जा रही है,  मुस्लिम समुदाय का कहना है कि जब तक वह माफी नहीं मांगेंगे, यह आंदोलन विश्व भर में जारी रहेगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News