Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

अब 20-20 के मूड में CM शिवराज, बोले- माफियाओं को जड़ से उखाड़ फेंकना है

भोपाल: कैबिनेट की अहम मीटिंग से पहले मंगलवार को सीएम शिवराज सिंह एक्शन मूड में दिखे। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों के साथ मीटिंग की और कहा कि सभी मंत्री अपने विभाग के साथ साथ निगम मंडल से जुड़े कार्यों को गति दें और कार्यों पर नजर रखें। शिवराज सरकार आज से मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन के जबाव में किसान सम्मेलन शुरु करने जा रही है। इस दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह तीनों कानून क्रांतिकारी कानून है इनसे किसानों की जिंदगी बदल जाएगी, मोदी जी ने एक लॉन्ग टर्म प्लानिंग की है जिसका असर भविष्य में देखने को मिलेगा। वहीं उन्होंने माफियाओं के खिलाफ अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अब 20-20 खेलना है, आप सब सरकार का मूड देख रहे हैं,  सारे माफियाओं को जड़ से उखाड़ फेंकना है

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों के साथ संवाद में कहा कि आज से मध्य प्रदेश में किसान सम्मेलन शुरू कर रहे हैं, वे खुद उज्जैन और भोपाल में रहेंगे,अन्य स्थानों पर अन्य नेता भेजे जा रहे हैं। सीएम ने कहा कि यह तीनों कानून किसान के पक्ष में है और इसका असर भी अब देखने को मिलने लगा है। इस दौरान उन्होंने पिपरिया को उदाहरण भी दिया। जिसमें उन्होंने बताया कि एक प्राइवेट कंपनी ने किसानों से ₹3000 में उनकी उपज खरीदने का तय किया था कंपनी ने अपने कॉन्ट्रैक्ट से मुकरी लेकिन एसडीएम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए किसानों को वो रेट दिलाया। सीएम ने निर्देश दिए कि एक-एक मंत्री अपने-अपने गृह जिले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करें और किसानों के हित में जो कानून बनाए गए हैं उसका व्यापक मसौदा प्रेस और जनता के सामने रखें।

सीएम ने आगे कहा कि सभी बहुत तेज गति से काम कर रहे हैं,  कुछ नए इनिसिएटिव भी लिए हैं। 18 दिसंबर को जो राहत राशि कांग्रेस की सरकार ने रोक दी थी उसे डालने जा रहे हैं 35 लाख 50 हजार किसानों को 1600 करोड़ रुपए डालेंगे। यह राशि का एक हिस्सा होगा दूसरा हिस्सा भी किसानों के खातों में देंगे। 18 दिसंबर को मुख्य कार्यक्रम विदिशा में होगा जिसमें सीएम शिवराज खुद शामिल होंगे। वहीं अन्य जिलों में होने वाले कार्यक्रमों में अन्य मंत्री उपस्थित रहेंगे जिनकी घोषणा जल्द की जाएगी। शिवराज सिंह ने आगे कहा कि 4 जनवरी को वे कलेक्टर कमिश्नर कॉन्फ्रेंस की दोबारा करेंगे। प्रशासनिक कसावट के लिए यह कॉन्फ्रेंस रहेगी, यह हमारा प्रशासन का भागीरथी प्रयत्न है। उन्होंने बताया कि इस बार की कॉन्फ्रेंस में निर्णय लिया है कि जब संबंधित विभाग की चर्चा होगी तो उस विभाग के मंत्री भी उपस्थित रहेंगे क्योंकि मंत्रियों को ही अपने विभाग से काम लेना है और जमीनी क्रियान्वयन कराना है।

सीएम शिवराज ने एक बड़े निर्णय के बारे में बताया और कहा कि पहले निगम मंडलों को अधिकारी देखते थे अब निगम मंडल संबंधित मंत्रियों के पास रहेंगे, सीएम ने कहा कि मेरा मानना है कि मंत्री ही निगम मंडल का प्रभार देखें,  यह काम पॉलीटिकल लीडरशिप से ही होने चाहिए। साथ ही निर्देश दिए कि अब 20-20 खेलना है, सब सरकार का मूड देख रहे हैं,  सारे माफियाओं को जड़ से उखाड़ फेंकना है। उन्होंने उन मंत्रियों की तारीफ की जो दिन रात मेहनत कर रहे हैं, जमीन पर जा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि सभी को अथाह परिश्रम करना है, मंत्री लीड करे और अफसर पीछे पीछे चले। सारे काम सुशासन की दृष्टि से होने चाहिए,  कार्यों में बारीक से बारीक नजर रखें, आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के लिए हमें काम करना है, सभी काम टाइमलाइन से पूरे हो और उनका जमीनी क्रियान्वयन सुनिश्चित हो।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News