Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

कश्मीर में आतंकवादी धमकियों पर भारी मतदान का जोश, मतदान केंद्रों पर लगी कतारें

जम्मू। कश्मीर के लोगों ने एक बार आतंकवादियों के तमाम मंसूबों को नाकाम कर दिया है। आतंकी संगठनों को लगा था कि कश्मीर में उनकी मौजूदगी को जाहिर करती गत बुधवार को हुई वारदातों की वजह से लोगों में दहशत पैदा होगी। ऐसा कुछ नहीं हुआ आतंकवाद ग्रस्त कुपवाड़ा, बारामूला, पुलवामा में सुबह से ही मतदान को लेकर लोगों में खासा जोश दिख रहा है। फीरन पहले हाथों में कांगड़ी लिए कश्मीर के युवा, बुजुर्ग, महिलाएं मतदान केंद्रों में कतारों में खड़े होकर मतदान के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं।जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों के मारे जाने व पट्टन के सिंहपोरा में ग्रेनेड हमले से उपजे हालात में ग्रामीण अमन, खुशहाली की उम्मीद के साथ सुबह सात बजे मतदान केंद्र खुलते ही अपने वोट डालने के लिए पहुंचना शुरू हो गए हैं।

जिला पुलवामा में जहां गत बुधवार को सुरक्षाबलों ने अल-बदर के तीन आतंकियों को ढेर कर दिया था, वहां भी मतदान को लेकर खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। कड़कड़ाती सर्दी, धुंध के बीच भी लोग वोट डालने के लिए मतदान केंद्रों में पहुंच रहे हैं।

आज पांचवें चरण के महत मतदान की प्रक्रिया जारी है। करीब 299 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला आज होगा। पुलवामा में मुठभेड़ और पट्टन में ग्रेनेड हमले के बाद घाटी में सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी है। अच्छी बात यह है कि इन आतंकी हमलों के बावजूद यहां मतदान को लेकर लोगों में कोई भय नजर नहीं आ रहा है। मतदान केंद्रों में वोट डालने के लिए लोग काफी संख्या में पहुंच रहे हैं। जिला कठुआ, रियासी, ऊधमपुर के सीमांत व पहाड़ी इलाकों में अभी से मतदान के लिए लोगों की कतारें लगने लगी हैं।

मतदान को कामायाब बनाने के लिए 2104 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। जिला विकास परिषद की जिन 37 सीटों के लिए मतदान हो रहा है, उनमें से 17 सीटें कश्मीर व 20 सीटें जम्मू संभाग के विभिन्न जिलों की हैं। पुलवामा में भी लित्तर, ददसारा व कादिराबाद सीटों के लिए मतदान हो रहा है। यहां लोगों का जोश देखते ही बन रहा है। हालांकि मुठभेड़ के बाद से ही यहां के मतदान केंद्रों व साथ लगते इलाकों में सुरक्षाबल कड़ी चौकसी बरत रहा है।

प्रदेश चुनाव आयुक्त केके शर्मा ने गत बुधवार को मतदान को कामयाब बनाने के लिए नागरिक, पुलिस प्रशासन द्वारा किए गए प्रबंधों के बारे में भी जानकारी दी थी। चुनाव में भाग्य आजमा रहे 299 उम्मीदवारों में कश्मीर में 30 महिलाओं समेत 155 उम्मीदवार मैदान में हैं। वहीं जम्मू संभाग में भाग्य आजमा रहे 144 उम्मीदवारों में 40 महिलाएं शामिल हैं। कुल मतदाताओं की संख्या 827519 है। इनमें से 433285 पुरुष व 394234 महिलाएं शामिल हैं। जम्मू संभाग के मतदाताओं की संख्या 439529 है। वहीं कश्मीर के मतदाताओं की संख्या 387990 है

वहीं मतदान के लिए बनाए गए 2104 मतदान केंद्रों में से 914 जम्मू व 1190 कश्मीर में हैं। इनमें 1193 मतदान केंद्र अति संवेदनशील, 472 संवेदनशील व 439 सामान्य हैं। कश्मीर के अति संवेदनशील मतदान केंद्रों में सुरक्षा के लिए अतिरिक्त प्रबंध किए गए हैं।

पंचायत उपचुनाव के पांचवें चरण में वोट डालने वालों में दिखा खासा उत्साह

जम्मू-कश्मीर जिला विकास परिषद के साथ पंचायत उपचुनाव के पांचवे चरण के मतदान भी हो रहे हैं। ग्रामीण आज 58 सरपंच व 218 पंच चुनेंगे। प्रदेश चुनाव आयुक्त केके शर्मा ने प्रदेश में जिला विकास परिषद चुनाव के साथ पंचायत उपचुनाव को कामयाब बनाने के लिए किए गए प्रबंधों का जायजा लेते हुए यह घोषणा की थी कि पांचवे चरण में 30 सरपंच निर्विरोध ही चुऐ गए हैं। इसी बीच सरंपचों के 58 पदों के लिए इस समय 175 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें से 51 महिलाएं हैं। वहीं दूसरी ओर पंचों के 218 पदों के लिए होने वाले मतदान में 527 उम्मीदवाराें के भाग्य का फैसला होगा। इनमें 137 महिलाएं शामिल हैं। आज सुबह सात बजे शुरू हुई मतदान की प्रक्रिया में ग्रामीणों का जोश ठंड में भी देखने वाला है। अपने गांव के पंच-सरपंच चुनने के लिए ये लोग कतारों में खड़े मतदान के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। पंचायत उपचुनाव के लिए 271 मतदान केंद्रों में मतदान हो रहा है। वहीं पंचों के उपचुनाव के लिए 299 मतदान केंद्रों में वोटिंग हो रही है। इन मतदान केंद्रों में सुरक्षा के साथ-साथ कोरोना की रोकथाम संबंधी सभी प्रबंध किए गए हैं। मतदान केंद्रों के बाहर तैनात सुरक्षाकर्मी व अन्य पोलिंग स्टाफ लोगों से इन नियमों का सख्ती से पालन करवा रहे हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News