Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

बुरेवी तूफान को लेकर हाई अलर्ट पर तमिलनाडु और केरल, 4 दिसंबर को टकराने की संभावना

नई दिल्ली। तमिलनाडु और केरल पर चार दिसंबर को ‘बुरेवी’ तूफान का खतरा मंडरा रहा है। इसके मद्देनजर मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है। उधर पीएम मोदी ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात कर उन्हें इस आपदा से निपटने के लिए हरसंभव केंद्रीय सहयोग देने का भरोसा दिया है। इस बीच, कन्याकुमारी, तूतीकोरिन, तिरुनेलवेली तथा मदुरै में एनडीआरएफ की टीमें भेज दी गई हैं और नागरकोइल में राहत शिविरें स्थापित की गई हैं।

भारतीय मौसम विभाग की चेतावनी शाखा ने बताया है कि तूफान 4 दिसंबर को तमिलनाडु के तट से टकरा सकता है। इस कारण दक्षिण तमिलनाडु तथा दक्षिण केरल में तीन दिसंबर के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु के राज्य मंत्री आरबी उदयकुमार ने बुद्धवार को रामेश्वरम का दौरा किया। उन्होंने कहा कि सभी मछुआरे समुद्र से लौट आए हैं और निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को राहत शिविरों में जाने के लिए कहा गया है।

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी और केरल के मुख्यमंत्री पी.विजयन से फोन पर हुई बातचीत के बारे में प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर वताया कि हमने बुरेवी तूफान से उत्पन्न स्थितियों पर चर्चा की। केंद्र तमिलनाडु तथा केरल को हरसंभव सहयोग देगा। प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की सलामती के लिए प्रार्थना करता हूं।

आइएमडी ने एक बुलेटिन में कहा है कि श्रीलंका के त्रिंकोमाली पहुंचने के बाद बुरेवी के मन्नार की खाड़ी और तमिलनाडु में कन्याकुमारी के आसपास कोमोरिन इलाके की ओर आने की आशंका है। विभाग ने बताया कि उसके बाद वह पश्चिम-दक्षिण पश्चिम की ओर बढ़ेगा और चार दिसंबर की सुबह कन्याकुमारी और पम्बन के बीच दक्षिण तमिलनाडु तट को पार करेगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News