Cover
ब्रेकिंग
उद्धव सरकार ने 4 राज्यों से आने वाले लोगों के लिए अनिवार्य किया RT-PCR टेस्ट कैसे चेक करें अपना LIC पॉलिसी स्टेटस ऑनलाइन, जानें इसका तरीका रेलवे में नौकरी का इंतजार करने वालों के लिए खुशखबरी, 1.40 लाख पदों पर परीक्षा कराने की तैयारी नगरोटा पर पाकिस्‍तान को घेरने की पूरी तैयारी, श्रृंगला ने संभाली कमान, राजदूतों को बुला कर दी जानकारी असम के लगातार 15 साल मुख्यमंत्री और 6 बार सांसद रहे गोगोई का निधन सीरम का एस्ट्राजेनेका से वैक्‍सीन की 10 करोड़ डोज का समझौता कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 8 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ आज पीएम मोदी की अहम बैठक, वैक्सीन पर भी चर्चा आतंकवाद, नशे के कारोबार को बल देने वाली मनी लांड्रिंग पर अंकुश नहीं लग पाना एक बड़ी चुनौती कोरोना जैसी प्राणहंता महामारी व जानलेवा प्रदूषण को देखते हुए भी लोग करते हैं नागरिक कर्तव्यों की अवहेलना बाइडन मंगलवार को मंत्रिमंडल की करेंगे घोषणा, ट्रंप कैंपेन की ओर से रोड़े अटकाने का काम जारी

कोरोना वायरस की दूसरी लहर, ग्वालियर में मरीजों का बढ़ता आंकड़ा हो सकता है खतरे की घंटी

ग्वालियर: देश में कोरोनावायरस के संक्रमण की दूसरी लहर चलने के बाद ग्वालियर में भी मरीजों की संख्या में इजाफा होने लगा है। सबसे ज्यादा सितंबर महीने में मरीजों का आंकड़ा 300 तक पहुंच गया था जिसमें अक्टूबर महीने में कमी आई और मरीजों का आंकड़ा 50 से 60 तक रह गया लेकिन नवंबर में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर आने के बाद एक बार फिर मरीजों की संख्या डेढ़ सौ तक पहुंच गई है। इस मामले में स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि ठंड का आगमन होने के साथ ही निमोनिया का फैलाव हो रहा है जिससे कोरोना को संक्रमण को अनुकूल वातावरण मिल रहा है। इसी कारण मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है।

ग्वालियर में अभी तक 14000 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें साढे ग्यारह हजार मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि 238 मरीज इस बीमारी के कारण अपनी जान गवां चुके हैं। रविवार को भी एक मरीज की मौत हुई है। ग्वालियर में रिकवरी रेट 80 फ़ीसदी है। खास बात यह भी है कि दीपावली के कारण लोगों ने तबीयत नासाज होने के बावजूद अपनी जांच नहीं कराई थी लेकिन दीपावली बीतने के बाद अब मरीज अस्पताल पहुंचने लगे हैं। रविवार और शनिवार को 2 दिन में 500 मरीजों की जांच की गई जिनमें डेढ़ सौ मरीज संक्रमित मिले हैं। जहां तक मरीजों की जांच की बात है तो पहले अक्टूबर में 2000 मरीजों की जांच रोजाना की जा रही थी जो घटकर दीपावली के कारण सिर्फ 400 रह गई थी। विशेषज्ञों का कहना है कि बदलते मौसम में कोरोना संक्रमण को लेकर विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का उपयोग नितांत जरूरी है। इधर जिला प्रशासन ने 8 निजी एवं सरकारी कोविड-19 सेंटर को बंद करने के भी आदेश दिए हैं। आदेश के बाद श्रमोदय आइडिया कॉलेज प्राइवेट सेंटर को बंद कर दिया गया है।

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1209 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही राज्य में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाये गये लोगों की कुल संख्या 1,86,655 तक पहुंच गई। राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से 13 और व्यक्तियों की मौत की पुष्टि हुई है जिससे मरने वालों की संख्या 3,115 हो गई है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News