Cover
ब्रेकिंग
नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय अर्नब को अंतरिम बेल देने के कारणों को SC ने किया स्पष्ट, कहा- पुलिस FIR में लगाए गए आरोप नहीं हुए साबित आईआईटी और एनआईटी मातृभाषा में इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम चलाएंगे, IIT-BHU में हिंदी से होगी शुरुआत गुजरात: राजकोट के कोरोना अस्पताल में लगी भीषण आग, 5 मरीजों की मौत मुख्यमंत्री ने सिद्धू के साथ कयासबाजियों को किया खारिज, हरीश रावत के प्रयास से मिटी दूरियां डोनाल्ड ट्रंप ने मान ली अपनी हार, बोले- छोड़ दूंगा व्हाइट हाउस मतदाताओं से संपर्क स्थापित करें कार्यकर्ता: स्वतंत्र देव पाकिस्तान ने ठंडे बस्ते में डाले भारत के डोजियर, तमाम सुबूतों के बावजूद साजिशकर्ताओं पर नहीं कसा शिकंजा

फडणवीस ने गुपकर गठबंधन का ‘हिस्सा बनने’ के लिए कांग्रेस पर साधा निशाना

मुंबईः भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने जम्मू कश्मीर में गुपकर घोषणापत्र गठबंधन (पीएजीडी) का ‘हिस्सा बनने’ के लिए बुधवार को कांग्रेस पर निशाना साधा। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने आरोप लगाया कि इस गठबंधन का मकसद जम्मू-कश्मीर में संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को बहाल कराना है और दावा किया कि इसने कांग्रेस का ‘पर्दाफाश’ हो गया है। हालांकि कांग्रेस ने मंगलवार को इस बात पर जोर दिया था कि वह गुपकर गठबंधन का हिस्सा नहीं है।

फडणवीस ने मुंबई में पत्रकारों से कहा कि पीएजीडी में पीडीपी, नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीपल्स कॉन्फ्रेंस, माकपा, पीपल्स यूनाइटेड फ्रंट, पैंथर्स पार्टी और आवामी नेशनल कॉन्फ्रेंस शामिल हैं। उन्होंने दावा किया, ‘‘इन पार्टियों के साथ, कांग्रेस भी इसका हिस्सा बन गई है। हम कांग्रेस से एक सवाल पूछना चाहते हैं कि क्या वह पीएजीडी के एजेंडा का समर्थन करती है?” भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला ने कहा है कि चीन की मदद से अनुच्छेद 370 को बहाल किया जाएगा। अब्दुल्ला की पार्टी ने पिछले महीने इस बात से इनकार किया था कि उन्होंने इस तरह की कोई टिप्पणी की है।

फडणवीस ने यह भी दावा किया कि गठबंधन का हिस्सा और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि कश्मीर में भारत के झंडे को फहराने की इजाजत नहीं होगी। मुफ्ती ने इस महीने के शुरू में कहा था कि वह तिरंगा और भूतपूर्व जम्मू-कश्मीर राज्य का झंडा एकसाथ उठाएंगी। उन्होंने साथ ही कहा था कि बतौर विधायक उन्होंने जम्मू-कश्मीर के संविधान और भारत की अखंडता एवं संप्रभुता दोनों में ही अपना विश्वास जताया था क्योंकि दोनों ही अविभाज्य हैं। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने पिछले महीने कहा था कि जब तक पांच अगस्त 2019 को किए गए संवैधानिक बदलाव को वापस नहीं लिया जाता, तब तक उनकी चुनाव लड़ने में दिलचस्पी नहीं है और ना ही वह तिरंगा उठाएंगी।

फडणवीस ने आरोप लगाया, ‘‘(मुफ्ती ने कहा) कि तिरंगे का सम्मान नहीं किया जाएगा। कांग्रेस महबूबा मुफ्ती के साथ गठबंधन कर रही है।” महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता ने आरोप लगाया कि गठबंधन का एजेंडा पाकिस्तान समर्थकों और अलगाववादी ताकतों के साथ कश्मीर के लिए लड़ाई लड़ने का है। फडणवीस ने कहा कि कांग्रेस को जवाब देना होगा कि क्या उसने ऐसी ‘‘पृथकतावादी” ताकतों के साथ गठबंधन किया है। उन्होंने कहा, ‘‘इन सभी लोगों का एजेंडा अनुच्छेद 370 को बहाल करने का है। मैं उनसे साफ-साफ कहना चाहता हूं कि दुनिया की कोई भी ताकत अनुच्छेद 370 को बहाल नहीं करा सकती है। अगर किसी ने कोशिश की तो भारत के लोग उन्हें ऐसा नहीं करने देंगे।”

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News