Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

गृह मंत्री अमित शाह की प्रोफाइल पिक्चर हटाने पर Twitter ने दी ये सफाई

ट्विटर की ओर से शुक्रवार को कहा गया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का अकाउंट असावधानीवश हुई भूल के कारण अस्थायी तौर पर बंद किया गया था और उस फैसले को तत्काल वापस ले लिया गया। ट्विटर के प्रवक्ता ने शुक्रवार को एक बयान में यह जानकारी दी। इसमें बताया गया कि अकाउंट अब सुचारू ढंग से चल रहा है। ट्विटर ने एक कॉपीराइट धारक की रिपार्ट पर बृहस्पतिवार को शाह के ट्विटर अकाउंट की डिस्प्ले पिक्चर हटा दी थी जिसके बाद शाह की तस्वीर पर क्लिक करने पर एक खाली पेज नजर आ रहा था जिसमें संदेश लिखा था मीडिया नॉट डिस्प्लेड। ट्वि

टर के प्रवक्ता ने कहा, असावधानीवश हुई भूल की वजह से हमने अपनी वैश्विक कॉपीराइट नीतियों के तहत इस खाते को अस्थायी रूप से बंद कर दिया था। तत्काल फैसले को वापस ले लिया गया और अब अकाउंट पूरी तरह से चालू है। ट्विटर पर शाह के 2.36 करोड़ फॉलोअर हैं। यह मामला ऐसे समय में सामने आया है जब सरकार ने लेह को केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख की बजाय जम्मू कश्मीर का हिस्सा दर्शाने के लिए ट्विटर को नोटिस जारी किया।

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार ट्विटर को पांच कार्यदिवस में इस बारे में स्पष्टीकरण देने का निर्देश दिया गया है कि गलत मानचित्र दर्शाकर भारत की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान करने के लिए इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म तथा उसके प्रतिनिधियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई क्यों नहीं शुरू की जानी चाहिए।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News