Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

SC में पश्‍चिम बंगाल में पटाखों पर रोक को चुनौती देने वाली याचिका को किया खारिज

नई दिल्‍ली। काली पूजा (Kali Puja) के दौरान पश्‍चिम बंगाल में पटाखों (firecrackers) के चलाने और इसकी बिक्री पर कलकत्‍ता हाई कोर्ट की ओर से पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है जिसमें हस्‍तक्षेप से सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने बुधवार को इनकार कर दिया। कोर्ट ने कहा, ‘कोरोना वायरस महामारी (coronavirus pandemic) के संकट को देखते हुए लोगों की जिंदगियां अधिक महत्‍वपूर्ण हैं। जस्‍टिस डी वाई चंद्रचूड़ (D Y Chandrachud)  और इंदिरा बनर्जी (Indira Banerjee) वाली वैकेशन बेंच (vacation bench) ने कहा कि त्‍योहार महत्‍वपूर्ण हैं लेकिन महामारी के कारण लोगों की जिंदगियों पर इस समय जोखिम है।

 सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने बुधवार को पश्‍चिम बंगाल (West Bengal) में पटाखों पर से प्रतिबंध हटाने वाली याचिका को खारिज कर दिया।  जस्‍टिस डीवाई चंद्रचूड़ (Justice DY Chandrachud) ने बताया, ‘ हम त्‍योहारों के महत्‍व को समझते हैं। लेकिन जब हम संकट में हैं तो मानव जीवन को सुरक्षित रखने और बचाने के लिए कोई भी प्रयास किया जा सकता है। उन्‍होंने आगे कहा, ‘हम त्‍योहारों को लेकर काफी सचेत रहते हैं लेकिन हम महामारी कोविड-19 से जूझ रहे हैं और सभी को इसमें समर्थन और सहयोग देना चाहिए जिससे स्‍थिति में सुधार हो।’

जस्‍टिस डीवाई चंद्रचूड़ (DY Chandrachud) और इंदिरा बनर्जी (Indira Banerjee) वाली वैकेशन बेंच (vacation bench) ने कहा कि त्‍योहार महत्‍वपूर्ण हैं लेकिन महामारी के कारण लोगों की जिंदगियों पर इस समय जोखिम है। बेंच ने कहा कि हाई कोर्ट कहीं अधिक स्‍थानीय हालात से अवगत है कि वहां के आवश्‍यकतानुसार क्‍या उचित है और क्‍या नहीं।

सुप्रीम कोर्ट में हाई कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश को गौतम राय (Gautam Roy) और बुर्राबाजार (Burrabazaar) व फायरवर्क्‍स डीलर्स एसोसिएशन (Fireworks Dealers Association) ने पिछले सप्‍ताह चुनौती दी थी। काली पूजा और छठ पूजा समेत तमाम त्‍योहारों पर पटाखों की बिक्री और इसे चलाने और को लेकर हाई कोर्ट ने रोक लगाने का आदेश दिया था। शनिवार को काली पूजा मनाई जाएगी। हाई कोर्ट के आदेश के अनुसार, दुर्गा पूजा की तरह ही काली पूजा में भी पंडाल में मात्र 15 लोगों को प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। यह पंडाल 300 वर्ग मीटर का होगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News