Cover
ब्रेकिंग
EOW ने नगर निगम के सिटी प्लानर को 50 लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा, नगर निगम ने पद से हटाया पति बनाना चाहता है मुस्लिम, घर में देवी देवताओं की तस्वीरें भी नहीं रखने देता, महिला पहुंची थाने दिल्ली पुलिस में कांसटेबल भर्ती परीक्षा में धांधली कराने वाले 12 आरोपी गिरफ्तार कोरोना काल में आगरा जेल से पैरोल पर छोड़े गए 114 बंदियों में 85 नहीं हुए हाजिर सोमवार को SCO समिट में हिस्सा लेंगे पीएम मोदी, चौथी बार आमने सामने होंगे भारत-चीन जम्मू-कश्मीरः DDC चुनाव में दिखा लोगों का उत्साह, पहले चरण में 52 फीसदी वोटिंग कोरोना वैक्‍सीन के लि‍ए पीएम मोदी सीरम इंस्‍टीट्यूट पहुंचे, ली जानकारी गुजरात में अलंग शिप यार्ड के अपग्रेडेशन के लिए एनजीटी ने किया हस्तक्षेप करने से इन्कार राजनाथ बोले, एक सीमा तक शांति के मार्ग पर चलता रहेगा भारत, मोदी सरकार में हर मोर्चे पर मजबूती से डटा है देश सीमा पार के आतंकियों को खटक रहा घाटी का अमन चैन, सेना प्रमुख बोले- LoC पार बड़ी संख्‍या में लॉन्चिंग पैड मौजूद

नीतीश या तेजस्वी किसकी बनेगी आज सरकार, नेता ही नहीं जनता को भी है इंतजार

कोविड-19 महामारी के बीच बिहार विधानसभा चुनाव के मतों की गिनती आज सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है।  243 सदस्यीय बिहार विधानसभा के लिए तीन चरणों में हुए चुनाव के बाद नीतीश कुमार या तेजस्वी प्रसाद यादव में से किसकी सरकार बनेगी, इसका इंतजार सिर्फ नेता ही नहीं बल्कि राज्य की जनता भी बेसब्री से कर रही है। विधानसभा के साथ ही वाल्मीकिनगर संसदीय उप चुनाव के मतों की गिनती भी आज ही होगी ।  अब तक के रुझानों में बीजेपी- जेडीयू गठबंधन और महागठबंधन के बीच कांटे की टक्कर दिख रही है। सभी 243 सीटों के शुरुआती रुझान सामने आ चुके हैं। मतगणना के प्रारंभिक रूझानों के अनुसार 130 सीटों में से राजग 60 सीटों पर आगे चल रही है जबकि विपक्षी महागठबंधन 102 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है। भारत निर्वाचन आयोग के आंकड़ों में से यह जानकारी मिली है। जबकि वास्तविक परिणाम तीन बजे से सामने आने लगेंगे।

कुछ ऐसे थे पहले दो घंटे के बाद के रुझान
अगर दो घंटे के बाद के रुझानों को देखें तो एनडीए 111 सीटों पर आगे है, जबकि 2015 में यह आंकड़ा 125 का था. एनडीए में भाजपा 65 सीटों पर आगे हैं, जो पिछले चुनावसे 11 सीटें ज्यादा है। जबकि 115 सीटों पर लड़ी जदयू महज 42 सीटों पर ही बढ़त बनाए हुए है। पिछले चुनाव की बात करें तो उसे 71 सीटें मिली थीं। एनडीए कुल मिलाकर 18 सीटों के नुकसान पर है। चुनावी रुझानों के नतीजे आने तक जदयू का आंकड़ा और नीचे खिसकने की आशंका है। भारत निर्वाचन आयोग के अनुसार बिहार विधानसभा की 243 में से 226 सीटों के अब तक प्राप्त रुझानों में भाजपा 62 सीटों पर, राजद 60 सीटों पर, जदयू 49 सीटों पर, कांग्रेस 20 सीटों पर, भाकपा- माले 13 सीटों पर, वीआईपी छह सीटों पर, लोजपा पांच सीटों पर और माकपा तीन सीटों पर आगे चल रही हैं, वहीं भाकपा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, बसपा एवं एआईएमआईएम एक- एक सीट पर तथा निर्दलीय चार सीटों पर आगे चल रहे हैं।

40 सीटों पर कड़ा मुकाबला
रुझानों में भले ही एनडीए को बहुमत मिल गया हो लेकिन 40 सीटों पर कांटे की टक्कर है। इन सीटों पर करीबी फाइट चल रही है। ऐसे में इन सीटों पर नंबरों के बदलने के बाद रुझान बदल भी सकते है। इन सभी 40 सीटों पर बढ़त का अंतर 1000 वोट से भी कम हैं।

उपचुनाव: 11 राज्यों की 58 विधानसभा सीटों के लिए आज  होगी मतगणना 
वहीं मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश समेत 11 राज्यों की 58 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए मतगणना आज हो रही है। मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव का परिणाम राज्य की शिवराज सिंह चौहान सरकार का भविष्य तय करेंगे। मध्यप्रदेश में सभी 28 सीटों पर मतगणना जारी है। अब तक आई रिपोर्ट में 28 सीटों में से 19 पर भाजपा प्रत्याशी आगे चल रहे हैं। वहीं 8 पर कांग्रेस तो 1 सीटों पर बसपा उम्मीदवार आगे चल रहे हैं। सांवेर विधानसभा से बीजेपी उम्मीदवार तुलसीराम सिलावट 3 हजार वोटों से तो ब्यावरा से भाजपा उम्मीदवार नारायण पवार 1 हजार वोटों से आगे चल रहे हैं।

मध्य प्रदेश के इतिहास में पहली बार इतनी सीटों पर हुए उपचुनाव 
अधिकारियों ने बताया कि मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है और चुनाव आयोग के कोविड-19 दिशा-निर्देशों के अनुसार एक उम्मीदवार, उनका चुनाव एजेंट और मतगणना एजेंट मतगणना केन्द्र के हॉल में मौजूद रह सकते हैं। उन्होंने बताया कि मतगणना स्थलों पर सामाजिक दूरी बनाये रखने के लिए विभिन्न कदम उठाये गये हैं। मध्य प्रदेश के इतिहास में पहली बार इतनी सीटों पर उपचुनाव हुए हैं। राज्य में इस वर्ष मार्च में कांग्रेस के 22 विधायकों ने त्यागपत्र दे दिया था जिससे अल्पमत में आई कमलनाथ सरकार गिर गई थी। इनमें अधिकांश विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक थे, जो बाद में भाजपा में शामिल हो गए। सिंधिया स्वयं भी मार्च में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गये थे। मध्य प्रदेश की 230 सदस्यीय विधानसभा में वर्तमान में भाजपा के 107, कांग्रेस के 87, बसपा के दो, सपा का एक और चार निर्दलीय विधायक हैं।

बहुमत का जादुई आंकड़ा 115 का होता है
सदन की प्रभावी संख्या 229 के आधार पर बहुमत का जादुई आंकड़ा 115 का होता है। भाजपा को इस आंकड़े को पाने के लिये आठ सीट की जरूरत है जबकि कांग्रेस को सभी 28 सीटें जीतना जरूरी है। उत्तर प्रदेश की सात विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिये मतगणना होगी। प्रशासन की तरफ से सुचारू मतगणना के लिये व्यापक इंतजाम किये गए हैं। इन सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव हुआ था। उपचुनाव में औसतन 53 फीसदी मतदाताओं ने 88 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद कर दिया था। जिन सीटों पर उपचुनाव हुआ था उनमें नौगांव सादात, टूंडला, बांगरमउ, बुलंदशहर, देवरिया, घाटमपुर और मल्हनी विधानसभा सीटें शामिल है। पिछली बार इन सात में से मल्हनी सीट सपा के पास थी, जबकि छह सीटों पर भाजपा का कब्जा था। इस बीच, सोमवार को उपचुनाव के नतीजे आने से एक दिन पहले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि राज्य की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने उपचुनाव में धांधली की है। उन्होंने कहा कि परिणाम आने के बाद वह मीडिया को कुछ ऐसे वीडियो दिखायेंगे जिसमें मतदाताओं को निकलने से रोका जा रहा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News