Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

सीएम केजरीवाल ने माना दिल्ली में है कोरोना की तीसरी लहर, कहा- घबराएं नहीं

नई दिल्ली। देश की राजधानी में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है, हर दिन यहां रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं, एक दिन पहले दिल्ली में कोरोना के आंकड़ों का रिकॉर्ड टूटा है। दिल्ली में मंगलवार को कोरोना के 6725 नए मरीज सामने आए हैं। जो एक रिकॉर्ड है। बाहरी दिल्ली में पराली को नष्ट करने की तकनीक का निरीक्षण करने गए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक सवाल के जवाब में माना है कि दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली पिछले कुछ दिन से कोविड-19 के नए मामलों में उछाल देखा गया है। हम इसे तीसरा दौर कह सकते हैं। इसे लेकर उन्होंने बृहस्पतिवार को दिल्ली सचिवालय में समीक्षा बैठक बुलाई है।

केजरीवाल ने कहा कि सितंबर और अक्टूबर की शुरुआत में कोरोना के मरीज कम होने शुरू हुए थे, मगर पिछले कुछ दिनों से बढ़ने शुरू हुए हैं। हम लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। मैं दिल्ली के लोगों से कहना चाहता हूं कि घबराने की जरूरत नहीं है। मगर लोग कोरोना बचाव को लेकर लापरवाही न करें। केजरीवाल ने कहा कि हमें जो भी कदम उठाने की जरूरत पड़ेगी हम उठाएंगे। दिल्ली में आइसीयू बेड की कमी है। हमने दिल्ली के लोगों के लिए 80 बेड आरक्षित किए थे, मगर दिल्ली हाई कोर्ट ने स्टे लगा दिया। हम इसे हटवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट जा रहे हैं। जिससे स्टे हटवाया जा सके और दिल्ली के लोगों को बेड मिल सकें। अभी फिलहाल दिल्ली के अस्पतालों में बेड की कोई कमी नही है। मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर की कोई कमी नहीं है। कुछ बड़े प्राइवेट अस्पतालों में आइसीयू और वेंटीलेटर की कमी है।

सीएम ने कहा कि हमारा मकसद है कि दिल्ली में लोग यदि बीमार पड़ें तो उन्हें उचित इलाज मिल सके। दिल्ली में कोराेना को लेकर लोगों की मौत न हो, इसके लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं। अभी फिलहाल मौत का आंकड़ा नियंत्रण में है। दिल्ली की स्थिति का आकलन करें तो देखा जा रहा है कि लोग बहुत लापरवाही कर रहे हैं। अपर और मिडिल क्लास में सबसे ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। दिल्ली सरकार पिछले 15 दिनों से काफी अधिक संख्या में टेस्ट करवा रही है। इस बीच राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमितों का कुल आंकड़ा चार लाख के पार पहुंच गया है। दिल्ली में पहली बार कोविड-19 के 6,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इसके पहले शुक्रवार को दिल्ली में संक्रमण के 5891 नए मामले सामने आए थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News