Cover
ब्रेकिंग
बुलेट ट्रेन के 72 फीसदी ठेके भारतीय कंपनियों को दिए जाएंगे : रेलवे पीएम मोदी ने निवार से हुए नुकसान का लिया जायजा, मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये की आर्थिक मदद का किया एलान Ind vs Aus: हार्दिक पांड्या ने किया साफ, अभी नहीं करेंगे गेंदबाजी, टीम इंडिया तैयार करे ऑलराउंडर अमेरिका ने 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड साजिद मीर पर 50 लाख डॉलर के ईनाम की घोषणा की कश्मीर में असल लोकतंत्र का आगाज: विरोध को दरकिनार कर जनता डीडीसी चुनावों में चुनेगी प्रतिनिधि जम्मू-कश्मीर में आज बदलेगा इतिहास, मतदान के लिए कड़ी सुरक्षा के साथ कोरोना से बचाव के भी पुख्ता बंदोबस्‍त ईरान के शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की आतंकवादियों ने की निर्मम हत्या Bihar Politics सुशील मोदी को भाजपा ने बनाया राज्यसभा प्रत्याशी, लोजपा की नजर भी टिकी थी ब्रिटिश पीएम ने दी लॉकडाउन की चेतावनी, कहा- पाबंदियों में ढील दी गई तो महामारी हो जाएगी बेकाबू वैक्सीन की तैयारियों का आज जायजा लेंगे पीएम मोदी, टीका तैयार कर रही तीन कंपनियों के प्लांटों का करेंगे दौरा

Mira Nair के बेटे ज़ोहरान ने न्यूयॉर्क स्टेट असेम्बली सीट पर दर्ज़ की जीत, डायरेक्टर ने कहा- बदलाव आने वाला है…

नई दिल्ली। नेटफ्लिक्स ओरिजिनल अ सूटेबल बॉय की निर्देशक मीरा नायर और यूंगाडा के शिक्षाविद महमूद ममदानी के बेटे ज़ोहरान ममदानी ने अमेरिका में इतिहास रच दिया है। 29 साल के ममदानी ने न्यूयॉर्क की स्टेट असेम्बली में अपनी सीट सुरक्षित कर ली है। यह कारनामा करने वाले ज़ोहरान पहले दक्षिण एशियाई हैं। ज़ोहरान डेमोक्रेटिक सोशलिस्ट और रैपर हैं। ज़ोहरान ने यह सीट निर्विरोध जीती है।

बेटे की जीत पर मीरा नायर को सोशल मीडिया में बधाइयां मिल रही हैं। ऐसे ही एक ट्वीट को रीट्वीट करके मीरा नायर ने लिखा- और ज़ोहरान की एंट्री हो गयी। बदलाव आने वाला है। ज़ोहरान ने इससे पहले ट्वीट करके लिखा था- यह ऑफ़िशियल हो गया है। हम जीत गये हैं। मैं अमीरों के लिए टैक्स, बीमारों के इलाज, ग़रीबों के लिए घर और सोशलिस्ट न्यूयॉर्क बनाने के लिए जा रहा हूं। लेकिन, यह सब मैं अकेला नहीं कर सकता। समाजवाद जीतने के लिए, हमें एक जन आंदोलन की ज़रूरत होगी। इसलिए, आइए करते हैं।

ज़ोहरान का जन्म कमपाला (यूगांडा) में हुआ था, लेकिन जब वो सात साल के थे तो अपने परिवार के साथ न्यूयॉर्क आ गये थे। उन्होंने बोडोइन कॉलेज से पढ़ाई की और फ़िलहाल एक हाउसिंग काउंसलर के तौर पर काम कर रहे हैं, जो ऐसे प्रवासी परिवारों की मदद करते हैं, जिन्हें घरों से बेदखल किया गया हो।

मीरा नायर की महमूद ममदानी से तब मुलाक़ात हुई थी, जब वो मिसीसिपी मसाला के लिए यूगांडा में रिसर्च कर रही थीं। मीरा नायर ने बतौर फ़िल्ममेकर अपना करियर डॉक्यूमेंट्री फ़िल्मों से शुरू किया था। उनकी पहली फुल लेंग्थ फीचर फ़िल्म सलाम बॉम्बे है, जो 1988 में रिलीज़ हुई थी

यह फ़िल्म ऑस्कर अवॉर्ड्स में बेस्ट फॉरेन फ़िलम केटेगरी में नामित हुई थी। 1991 में मिसीसिपी मसाला आयी। 1996 में रिलीज़ हुई कामसूत्र- टेल ऑफ़ लव ने मीरा नायर को दुनियाभर में ख़ूब चर्चा दिलायी। इस फ़िल्म में रेखा भी एक अहम किरदार में थीं। मीरा की अन्य चर्चित फ़िल्मों में मानसून वेडिंग और द नेमसेक हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News