Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

EC के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस, तन्खा बोले- चुनाव आयोग दबाव में कर रहा काम

इंदौर: पूर्व सीएम कमलनाथ को स्टार प्रचारक की सूची से हटाने पर मध्य प्रदेश कांग्रेस नेताओं का गुस्सा चर्म पर हैं। चुनाव आयोग के इस एक्शन के खिलाफ कांग्रेस अब सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में हैं। कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने चुनाव आयोग के इस फैसले को भेदभाव भरा बताया है और कहा हम सुप्रीम कोर्ट जा रहे है, फ्रीडम ऑफ स्पीच और एक्सप्रेशन को लेकर मुद्दे रखे हैं। स्टार प्रचारक कौन होगा ये पार्टी तय करती है, इलेक्शन कमीशन उसमे निर्णय नहीं ले सकता। बीजेपी के लीडर ने कौन कौन सी बाते कही है वो पिटीशन में डाली जा रही है। कमलनाथ की ओर से सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल और विवेक तंखा अपीलकर्ता होंगे।

मीडिया से बातचीत के दौरान विवेक तन्खा ने चुनाव आयोग के इस फैसले को बीजेपी की बौखलाहट का प्रतीक बताया और कहा कि इमरती देवी की शिकायत पर 48 घंटे का नोटिस दिया गया था और उस पर जवाब भी दे दिया गया था, लेकिन इस बात पर कोई नोटिस नहीं दिया गया। शुक्रवार शाम को ही ऑर्डर क्यों दिया गया, कमलनाथ जी को रोकने की यह बीजेपी की साजिश है। आज हर हाल में पिटीशन दाखिल होगा, जो कमलनाथ जी को आदेश दिया गया है वो आयोग का अधिकार क्षेत्र नहीं है।

विवेक तन्खा ने आगे कहा कि उपचुनाव में बीजेपी के लोग बोल रहे है कि ये कांग्रेस की तरफ झुकाव है, कल का जो ऑर्डर है वो बीजेपी की बोखलाहट का प्रतीक है। पिटीशन पर जल्द बहस होने की मांग रखेंगे, कमलनाथ जी अपने दूसरे स्टार प्रचारकों के साथ प्रचार पर आएंगे। इलेक्शन कमीशन पर दबाव को लेकर बोले अब सुप्रीम कोर्ट को गाइड लाइन देना चाहिए, जिससे कि चुनाव कैसे हो पता चले, चुनाव एक प्रकार से फेस्टिवल है। चंबल से जो खबरें आ रही है वो एक तरफा चुनाव की खबरें आ रही है। जब जब चुनाव में दबाव डाला गया है तब पब्लिक ने जवाब दिया है, हमें मध्यप्रदेश की जनता पर भरोसा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News