Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

EC के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस, तन्खा बोले- चुनाव आयोग दबाव में कर रहा काम

इंदौर: पूर्व सीएम कमलनाथ को स्टार प्रचारक की सूची से हटाने पर मध्य प्रदेश कांग्रेस नेताओं का गुस्सा चर्म पर हैं। चुनाव आयोग के इस एक्शन के खिलाफ कांग्रेस अब सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में हैं। कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने चुनाव आयोग के इस फैसले को भेदभाव भरा बताया है और कहा हम सुप्रीम कोर्ट जा रहे है, फ्रीडम ऑफ स्पीच और एक्सप्रेशन को लेकर मुद्दे रखे हैं। स्टार प्रचारक कौन होगा ये पार्टी तय करती है, इलेक्शन कमीशन उसमे निर्णय नहीं ले सकता। बीजेपी के लीडर ने कौन कौन सी बाते कही है वो पिटीशन में डाली जा रही है। कमलनाथ की ओर से सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल और विवेक तंखा अपीलकर्ता होंगे।

मीडिया से बातचीत के दौरान विवेक तन्खा ने चुनाव आयोग के इस फैसले को बीजेपी की बौखलाहट का प्रतीक बताया और कहा कि इमरती देवी की शिकायत पर 48 घंटे का नोटिस दिया गया था और उस पर जवाब भी दे दिया गया था, लेकिन इस बात पर कोई नोटिस नहीं दिया गया। शुक्रवार शाम को ही ऑर्डर क्यों दिया गया, कमलनाथ जी को रोकने की यह बीजेपी की साजिश है। आज हर हाल में पिटीशन दाखिल होगा, जो कमलनाथ जी को आदेश दिया गया है वो आयोग का अधिकार क्षेत्र नहीं है।

विवेक तन्खा ने आगे कहा कि उपचुनाव में बीजेपी के लोग बोल रहे है कि ये कांग्रेस की तरफ झुकाव है, कल का जो ऑर्डर है वो बीजेपी की बोखलाहट का प्रतीक है। पिटीशन पर जल्द बहस होने की मांग रखेंगे, कमलनाथ जी अपने दूसरे स्टार प्रचारकों के साथ प्रचार पर आएंगे। इलेक्शन कमीशन पर दबाव को लेकर बोले अब सुप्रीम कोर्ट को गाइड लाइन देना चाहिए, जिससे कि चुनाव कैसे हो पता चले, चुनाव एक प्रकार से फेस्टिवल है। चंबल से जो खबरें आ रही है वो एक तरफा चुनाव की खबरें आ रही है। जब जब चुनाव में दबाव डाला गया है तब पब्लिक ने जवाब दिया है, हमें मध्यप्रदेश की जनता पर भरोसा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News