Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

Bihar Chunav :… और जब अपने प्रत्याशी का नाम भूल गए तेजस्वी यादव तो जनता की ओर से आई ऐसी प्रतिक्रिया

मुजफ्फरपुर। बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के प्रचार के लिए सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है। एक नेता एक दिन में कई-कई सभाएं कर रहे। कुछ छोटे दल के नेताओं को तो एक दिन में 12 से 13 सभाएं करनी पड़ रही हैं। राजद के नेताओं के साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा। महागठबंधन से सीएम कैंडिडेट तेजस्वी यादव एक दिन में दर्जन भर से अधिक सभाएं कर रहे हैं। हर आधे घंटे पर वे एक सभाएं कर रहे। ऐसे में संबोधन के दौरान चूक होना स्वाभाविक ही है।

प्रत्याशी का नाम ही गलत बोलने लगे

शुक्रवार को समस्तीपुर की विभूतिपुर विधानसभा सीट पर महागठबंधन के समर्थन में किए जा रहे चुनाव प्रचार के दौरान वे प्रत्याशी का नाम ही गलत बोलने लगे। पहली बार जब उन्होंने अजय कुमार को अमित कुमार के रूप में संबोधित किया तो मंच पर बैठे नेता बगले झांकने लगे लेकिन किसी ने टोका नहीं। प्रवाह में उन्होंने एकाधिक बार जब अजय कुमार को अमित कुमार कह दिया। इसके बाद सामने से लोगों ने तेजस्वी को भूल का अहसास कराया। तदोपरांत उन्होंने नाम में सुधार करते हुए जनता से एक-एक बहुमूल्य वोट अजय कुमार को देने की अपील की।

विभूतिपुर से महागठबंधन के लिए उम्मीदवार अजय कुमार मैदान में हैं।

नीतीश जी व भाजपा वाले 30-30 हेलीकॉप्टर पीछे-पीछे उड़ा रहे

अपने संबोधन के दौरान तेजस्वी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बिना नाम लिए कहा कि जो लोग पिछले 15 वर्षों में बिहार का सर्वांगीण विकास नहीं कर पाए, वे अगले 5 वर्ष में भी नहीं कर पाएंगे। नीतीश जी व भाजपा वाले 30-30 हेलीकॉप्टर पीछे-पीछे उड़ा रहे हैं। कहावत है एक बिहारी सब पड़ भारी। हम सब पर भारी हैं। क्योंकि जनता मेरे साथ है। मैं दूसरों की तरह झूठ नहीं बोल सकता। हमें एक मौका दीजिए। सरकार गठन के बाद मंत्रिमंडल की पहली बैठक में 10 लाख सरकारी नौकरी देने के लिए अपना पहला हस्ताक्षर करूंगा। वृद्धापेंशन की राशि चार सौ रुपये से बढ़ाकर एक हजार करने का भी वादा किया। आशा, जीविका समूह से जुड़े लोगों, विकास मित्र, स्वयं सहायता समूह का मानदेय दोगुना व नियमित करने और समान काम के लिए समान वेतन देने की बातें कहीं। उन्होंने प्याज का नाम लेकर भाजपा पर तंज कसा। कहा एक बार प्याज मंहगी हो गई थी तो वे लोग गले में प्याज की माला पहनकर घूम रहे थे। अब, मंहगाई उनकी भौजाई हो गई है। आमजन को भ्रम फैलाने वाले लोगों से सतर्क रहने की सलाह देते हुए महागठबंधन प्रत्याशी जिताने की अपील की।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News