Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

मोदी सरकार पर भड़के पवार, बोले- केंद्र की नीतियों ने प्याज का स्वाद कर दिया कड़वा

पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार ने प्याज के आयात-निर्यात की नीति को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार निंदा की। उन्होंने कहा कि सरकार की विरोधाभासी नीति के कारण प्याज का स्वाद कड़वा हो गया है।

प्याज उत्पादक कठिनाइयों का कर रहे सामना
पवार ने भुजबल नॉलेज सिटी में प्याज उत्पादकों तथा व्यापारियों से मुलाकात के दौरान यह बातें कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के प्याज के निर्यात को रोकने तथा आयात की अनुमति देने वाले विरोधाभासी फैसले के कारण प्याज उत्पादक कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं। केंद्र सरकार प्याज को आवश्यक वस्तुओं की सूची से हटा चुकी है। केंद्र को प्याज के बारे में फिर से हस्तक्षेप करने की आवश्यकता नहीं थी।

प्याज पर लगे प्रतिबंधों को हटाने की उठाई मांग 
पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री ने प्याज पर लगे प्रतिबंधों को जल्द से जल्द हटाने की मांग की। उन्होंने कहा कि प्याज का मुद्दा केंद्र और राज्य सरकार का नहीं है। वह प्याज के मुद्दे को केंद्र के संबंधित विभाग के प्रमुखों के समक्ष उठायेंगे। उन्होंने व्यापारियों को प्याज बाजारों को फिर से शुरू करने की सलाह दी और कहा उनकी परेशानियों को दूर करने के प्रयास किये जा रहे हैं। राकांपा प्रमुख ने प्याज के परिवहन पर लगाए गए 25 टन के कैप पर भी नाराजगी व्यक्त की।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News