Cover
ब्रेकिंग
रोशनी एक्‍ट की आड़ में जम्‍मू कश्‍मीर के राजनेता खूब उठाते रहे फायदा, अब कसा शिकंजा तो मचा रहे हल्‍ला राजनीति के मैदान से क्रिकेट की पिच तक मंझे हुए खिलाड़ी हैं असदुद्दीन औवेसी, कानून के भी हैं जानकार जम्मू-कश्मीर में नए भूमि कानून के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सीपीआइ नेता तारीगामी लखनऊ का म्युनिसिपल बॉण्ड BSE में सूचीबद्ध, मुंबई में सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया लॉन्च नवंबर में 1.05 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह, वित्त मंत्रालय ने दी जानकारी अमेरिका के इस सीरियल किलर की कहानी पढ़कर दंग रह जाएंगे आप, FBI के भी हाथ छोटे पड़े 24 घंटे में कोरोना के 36,604 नए मामले, अब तक 88 लाख लोग हुए ठीक किसान आंदोलन के कारण कौन-कौन सी ट्रेन कैंसिल हुई है, जानें उसकी पूरी लिस्ट 4 दिसंबर को दक्षिण तमिलनाडु से टकराएगा चक्रवात बुरेवी, IMD ने जारी किया भारी बारिश का अलर्ट सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने लगाए टेंट, बैरिकेड के पास शुरू किया खाना बनाना; दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर भी प्रदर्शन शुरू

मोदी सरकार पर भड़के पवार, बोले- केंद्र की नीतियों ने प्याज का स्वाद कर दिया कड़वा

पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार ने प्याज के आयात-निर्यात की नीति को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार निंदा की। उन्होंने कहा कि सरकार की विरोधाभासी नीति के कारण प्याज का स्वाद कड़वा हो गया है।

प्याज उत्पादक कठिनाइयों का कर रहे सामना
पवार ने भुजबल नॉलेज सिटी में प्याज उत्पादकों तथा व्यापारियों से मुलाकात के दौरान यह बातें कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के प्याज के निर्यात को रोकने तथा आयात की अनुमति देने वाले विरोधाभासी फैसले के कारण प्याज उत्पादक कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं। केंद्र सरकार प्याज को आवश्यक वस्तुओं की सूची से हटा चुकी है। केंद्र को प्याज के बारे में फिर से हस्तक्षेप करने की आवश्यकता नहीं थी।

प्याज पर लगे प्रतिबंधों को हटाने की उठाई मांग 
पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री ने प्याज पर लगे प्रतिबंधों को जल्द से जल्द हटाने की मांग की। उन्होंने कहा कि प्याज का मुद्दा केंद्र और राज्य सरकार का नहीं है। वह प्याज के मुद्दे को केंद्र के संबंधित विभाग के प्रमुखों के समक्ष उठायेंगे। उन्होंने व्यापारियों को प्याज बाजारों को फिर से शुरू करने की सलाह दी और कहा उनकी परेशानियों को दूर करने के प्रयास किये जा रहे हैं। राकांपा प्रमुख ने प्याज के परिवहन पर लगाए गए 25 टन के कैप पर भी नाराजगी व्यक्त की।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News