Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

दिल्ली में 15 नवंबर तक चलेगा ‘रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ’ अभियान, यहां लें इससे जुड़ी हर जानकारी

नई दिल्ली।  दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली सरकार के अभियान  ‘Red light On, Gaadi Off’  की शुरुआत बुधवार सुबह 8 बजे से हो गई है। इसके तहत रेड लाइट होने पर वाहन चालक को इंजन बंद कर देना होगा। यह अभियान आगामी 15 नवंबर तक सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक चलेगा। अभियान की सफलता के लिए दिल्ली के 100 व्यस्ततम चौराहों पर 2500 पर्यावरण मार्शल की तैनाती की गई है। यह अभियान मुख्य रूप से भीड़ वाले 100 रेड लाइट चौराहों पर चलाया जा रहा। इस अभियान के जरिये लोगों को वायु प्रदूषण के खिलाफ लोगों को जागरूक करने और उनके दायित्य का एहसास कराने के लिए है।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai, Minister of Environment of Delhi)  का कहना है कि ‘युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध’ अभियान के तहत  ‘Red light On, Gaadi Off’ 15 नवंबर तक चलेगा। दिल्‍ली सरकार वायु प्रदूषण से निपटने के लिए ‘एंटी डस्‍ट कैंपेन’ (Anti Dust Campaign) भी चला रही है, लेकिन बढ़ते वायु प्रदूषण के चलते दिल्ली सरकार ने ‘Red light On, Gaadi Off’  भी चलाने का निर्णय लिया है

जानें क्या है ‘Red light On, Gaadi Off’ 

बुधवार से दिल्ली में शुरू हुए ‘रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ’ अभियान सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक चलेगा। दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय का कहना है कि ये अभियान दिल्ली के 2 करोड़ लोगों का है। इसमें सभी को अपनी इच्छा से योगदान करना है। इस अभियान को जन आंदोलन बनाने के लिए दिल्ली सरकार दिल्ली के सभी सांसद, विधायक और पार्षदों को पत्र लिख चुकी है कि वे अपने अपने इलाकों में लोगों को जागरूक करें। इस में राजनीतिक सभी पार्टियों, RWA, मार्किट एसोसिएशन, औद्योगिक संगठन, एनजीओ (NGO), ऑफिसर्स एसोसिएशन और ट्रेड यूनियन से भी अभियान को सफल बनाने की गुजारिश की गई है। बताया जा रहा है कि यह अभियान सफल रहा तो दिल्ली में 20 फीसद तक वायु प्रदूषण कम किया जा सकता है। बता दें कि दिल्ली के प्रदूषण में सबसे ज्यादा योगदान गाड़ियों का रहता है। फिलहाल पंजाब और हरियाणा में पराली जलाए जाने के चलते वायु गुणवत्ता का स्तर 300 के पार पहुंच गया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News