Cover
ब्रेकिंग
ईदगाह हिल्स बनेगी गुरुनानक टेकरी !, बीजेपी नेता बोले- हजारों सिखों ने राम मंदिर के लिए किया संघर्ष केंद्र के साथ किसान नेताओं की पांचवें दौर की वार्ता जारी, सरकार के प्रस्‍तावों पर हो रही चर्चा चोरी के आरोप में मजदूर की बर्बरता से पिटाई, जानवरों से भी बदतर बर्ताव ब्रेक फेल होने पर हुआ दर्दनाक हादसा, ट्रकों में आग लगने से जिंदा जले ड्राइवर MP में इस साल नहीं खुलेंगे 1-8वीं तक के स्कूल, 10वीं-12वीं के छात्रों के लिए नई गाइडलाइन जारी कर्नाटक: सरकार के विरोध में उतरे कन्‍नड़ समर्थक, आज बंद का आह्वान BJP National President JP Nadda का दून दौरा, लेंगे कार्यकर्ताओं के मन की थाह और प्रबुद्धजनों से फीडबैक IIT 2020 Global Summit : पीएम मोदी बोले- रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के सिद्धांत के लिए प्रतिबद्ध है सरकार ब्राजील में पुल से नीचे गिरी बस, कम से कम 10 लोगों की मौत जमीनी विवाद मे सगे भतीजे ने घायल चाची पर चढ़ाई स्कॉर्पियो, मौत

दिल्ली में 15 नवंबर तक चलेगा ‘रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ’ अभियान, यहां लें इससे जुड़ी हर जानकारी

नई दिल्ली।  दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली सरकार के अभियान  ‘Red light On, Gaadi Off’  की शुरुआत बुधवार सुबह 8 बजे से हो गई है। इसके तहत रेड लाइट होने पर वाहन चालक को इंजन बंद कर देना होगा। यह अभियान आगामी 15 नवंबर तक सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक चलेगा। अभियान की सफलता के लिए दिल्ली के 100 व्यस्ततम चौराहों पर 2500 पर्यावरण मार्शल की तैनाती की गई है। यह अभियान मुख्य रूप से भीड़ वाले 100 रेड लाइट चौराहों पर चलाया जा रहा। इस अभियान के जरिये लोगों को वायु प्रदूषण के खिलाफ लोगों को जागरूक करने और उनके दायित्य का एहसास कराने के लिए है।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai, Minister of Environment of Delhi)  का कहना है कि ‘युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध’ अभियान के तहत  ‘Red light On, Gaadi Off’ 15 नवंबर तक चलेगा। दिल्‍ली सरकार वायु प्रदूषण से निपटने के लिए ‘एंटी डस्‍ट कैंपेन’ (Anti Dust Campaign) भी चला रही है, लेकिन बढ़ते वायु प्रदूषण के चलते दिल्ली सरकार ने ‘Red light On, Gaadi Off’  भी चलाने का निर्णय लिया है

जानें क्या है ‘Red light On, Gaadi Off’ 

बुधवार से दिल्ली में शुरू हुए ‘रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ’ अभियान सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक चलेगा। दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय का कहना है कि ये अभियान दिल्ली के 2 करोड़ लोगों का है। इसमें सभी को अपनी इच्छा से योगदान करना है। इस अभियान को जन आंदोलन बनाने के लिए दिल्ली सरकार दिल्ली के सभी सांसद, विधायक और पार्षदों को पत्र लिख चुकी है कि वे अपने अपने इलाकों में लोगों को जागरूक करें। इस में राजनीतिक सभी पार्टियों, RWA, मार्किट एसोसिएशन, औद्योगिक संगठन, एनजीओ (NGO), ऑफिसर्स एसोसिएशन और ट्रेड यूनियन से भी अभियान को सफल बनाने की गुजारिश की गई है। बताया जा रहा है कि यह अभियान सफल रहा तो दिल्ली में 20 फीसद तक वायु प्रदूषण कम किया जा सकता है। बता दें कि दिल्ली के प्रदूषण में सबसे ज्यादा योगदान गाड़ियों का रहता है। फिलहाल पंजाब और हरियाणा में पराली जलाए जाने के चलते वायु गुणवत्ता का स्तर 300 के पार पहुंच गया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News