Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

गोरखनाथ मंदिर में सीएम आवास पर दुष्कर्म पीड़िता ने जान देने की कोशिश की, पुलिस ने बचाया

गोरखपुर। देवरिया जिले देवरिया के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के एक गांव में दुष्कर्म के मामले में आरोपित (प्रधानपति) की गिरफ्तारी न होने से क्षुब्ध पीड़िता रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के गोरखनाथ मंदिर स्थित आवास पर आत्मदाह करने का प्रयास किया। पुलिस ने महिला को किसी तरह से बचाया।

सीएम के आवास पर आत्‍महत्‍या करने के प्रयास के मामला सामने आते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिस दुष्कर्म के आरोपी प्रधान पति का लोकेशन लेने में जुट गई है। पीड़िता का कहना है कि ग्राम प्रधान के घर वह चौका-बर्तन करती है। छह सितंबर को प्रधान के यहां कोई नहीं था, ग्राम प्रधान पति रोहित राय ने उसके साथ घर पर अकेले देख दुष्कर्म किया और धमकी दी

इस मामले में 13 सितंबर को पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया लेकिन आज तक आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। जबकि अन्य मामलों में आरोपित की त्वरित गिरफ्तारी पुलिस कर देती है। महिला का कहना है कि उसने थाने से लेकर डीआइजी तक दौड़ लगा चुकी है लेकिन आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो रही है और न ही उसे न्याय दिलाया जा रहा है। थाने पर जाने पर उसे भगा दिया जा रहा है। मामले की विवेचना सीओ सिटी निष्ठा उपाध्याय कर रही हैं।

देवरिया पुलिस गोरखपुर रवाना हुई

देवरिया के पुलिस अधीक्षक डॉ श्रीपति मिश्र ने बताया कि रामपुर कारखाना के थानेदार को गोरखपुर भेजा गया है महिला को जो लोग आत्महत्या के लिए प्रेरित किया है उन लोगों का भी लोकेशन लिया जा रहा है। दुष्कर्म का आरोप प्रथम दृष्टया सही नहीं है। क्योंकि महिला जिस वक्त की घटना बता रही है, उस समय आरोपित का लोकेशन देवरिया शहर में था। इन सभी बिंदुओं को गंभीरता से देखा जा रहा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News