Cover
ब्रेकिंग
नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय अर्नब को अंतरिम बेल देने के कारणों को SC ने किया स्पष्ट, कहा- पुलिस FIR में लगाए गए आरोप नहीं हुए साबित आईआईटी और एनआईटी मातृभाषा में इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम चलाएंगे, IIT-BHU में हिंदी से होगी शुरुआत गुजरात: राजकोट के कोरोना अस्पताल में लगी भीषण आग, 5 मरीजों की मौत मुख्यमंत्री ने सिद्धू के साथ कयासबाजियों को किया खारिज, हरीश रावत के प्रयास से मिटी दूरियां डोनाल्ड ट्रंप ने मान ली अपनी हार, बोले- छोड़ दूंगा व्हाइट हाउस मतदाताओं से संपर्क स्थापित करें कार्यकर्ता: स्वतंत्र देव पाकिस्तान ने ठंडे बस्ते में डाले भारत के डोजियर, तमाम सुबूतों के बावजूद साजिशकर्ताओं पर नहीं कसा शिकंजा

आतंकी हमलों से दहला पाकिस्‍तान, बलूचिस्‍तान और उत्‍तरी वजीरिस्‍तान में 12 सैनिकों की मौत

ग्‍वादर। पाकिस्‍तान में गुरुवार को दो आतंकी हमलों में 12 सैनिकों की मौत हो गई। एक हमला बलूचिस्‍तान के के ग्‍वादर जिले जबकि दूसरा हमला उत्‍तरी वजीरिस्‍तान में हुआ। रेडियो पाकिस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, पहला हमला बलूचिस्तान के ओरमारा में राज्य तेल और गैस विकास कंपनी लिमिटेड (OGDCL) के एक काफिले पर हुआ जिसमें कम से कम छह सुरक्षाकर्मी मारे गए।

समाचार एजेंसी एएनआइ ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि दूसरा हमला उत्तरी वज़ीरिस्तान के रज़माक क्षेत्र के पास हुआ जिसमें एक IED धमाके में छह पाकिस्‍तानी सैनिकों की मौत हो गई। हमले के बाद पाकिस्‍तानी सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरकर तलाशी अभियान चलाया। हमले के तुरंत बाद बलूच राजी अजोई सिंगर (Baloch Raji Ajoi Singer, BRAS) ने ट्वीट करके हमले की जिम्मेदारी ली। प्रधानमंत्री इमरान खान ने मारे गए जवानों के प्रति शोक संवेदना जताई।

इमरान खान ने हमले की विस्‍तृत रिपोर्ट तलब की है। वहीं दूसरी ओर इमरान सरकार को सत्ता से हटाने की मांग को लेकर गठित विपक्षी गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट शुक्रवार को पहली जनसभा के साथ अपना आंदोलन शुरू करने जा रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान विपक्षी गठबंधन से घबरा गए हैं। वह सेना के साथ मिलकर इसके सरकार विरोधी शांतिपूर्ण आंदोलन को कुचलने की जुगत में लग गए हैं।

बताया जाता है कि इसी कवायद में विपक्षी पार्टियों के 450 से ज्यादा कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज किए गए हैं। सूत्रों के अनुसार, विपक्षी दलों के हमलावर रुख से सेना और इमरान काफी दबाव में हैं। सिंध और गुलाम कश्मीर के बाद अब पंजाब प्रांत में भी सरकार विरोधी प्रदर्शन होने जा रहे हैं। पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) की पहली जनसभा पंजाब प्रांत के गुजरांवाला में है।

इस बीच सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने किसी भी अशांति से निपटने के लिए गुजरांवाला में सैन्य बलों की तैनाती का आदेश दिया है। मीडिया में आई खबरों के अनुसार, पीडीएम के सरकार विरोधी आंदोलन से पहले पंजाब प्रांत की पुलिस ने कोरोना महामारी संबंधी नियमों के उल्लंघन में 450 से ज्यादा विपक्षी कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज किए हैं। कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News