Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

घुड़सवार पुलिस रस्सी से बांध अश्वेत कैदी को ले गई पैदल, अब मांगा 10 लाख डॉलर हर्जाना

गलवेस्टन। अमेरिका में पिछले कुछ समय से अश्वेतों के खिलाफ पुलिस की बर्बरता की ज्‍यादा ही घटनाएं सामने आ रही हैं। हालिया मामला टेक्‍सास का है, जो जोर पकड़ता जा रहा है। घोड़ों पर सवार दो श्वेत पुलिसकर्मियों द्वारा एक अश्वेत व्यक्ति के हाथ रस्सी से बांधकर उसे पैदल ले जाया गया। अब इस शख्‍स ने यह कहते हुए दक्षिणपूर्वी टेक्सास शहर और उसके पुलिस विभाग से 10 लाख डॉलर का हर्जाना मांगा कि गिरफ्तारी के दौरान उसे अपमान और भय का सामना करना पड़ा।

गलवेस्टन काउंटी जिला अदालत में पिछले हफ्ते डोनाल्ड नीली (44) की तरफ से दायर याचिका में आरोप लगाया गया कि अधिकारियों का आचरण अतिवादी और अपमानजनक था, जिससे नीली शारीरिक रूप से घायल हुए और भावनात्मक रूप से भी आहत हुए। अदालती दस्तावेजों का उल्लेख करते हुए मीडिया में आई खबरों में यह जानकारी दी गई। पुलिस की ओर से इस मामले में अभी कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है

बता दें कि यह मामला पिछले साल अगस्त का है और तस्वीरों में नीली को हथकड़ी से जुड़ी रस्सी पकड़े दो घुड़सवार पुलिस अधिकारी लेकर जा रहे हैं। यह तस्वीर गुलामों को जंजीर में जकड़ कर रखने की याद दिलाती है। घटना के समय बेघर नीली सड़क किनारे सो रहे थे, जब उन्हें आपराधिक अतिक्रमण के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। अधिकारियों की वर्दी पर लगे कैमरे में एक पुलिसकर्मी को दो बार यह कहते हुए सुना गया कि नीली को शहर की सड़कों पर रस्सियों से खींचकर ले जाना खराब दिखेगा। याचिका में कहा गया, ‘नीली को उस तरह प्रदर्शन के लिये रखा गया है, जैसे कभी गुलामों को रखा जाता था।

गौरतलब है कि पिछले दिनों अमेरिका में 46 साल के अफ्रीकी मूल के अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी, जिसको लेकर कई शहरों में हिंसा हुई थी। इसके बाद कई शहरों में कर्फ्यू भी लगाना पड़ा था। हालांकि, हाल ही में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के मामले में मुख्य आरोपित पुलिस अधिकारी को जमानत मिल गई है। कोर्ट के रिकॉर्ड के मुताबिक, बुधवार को आरोपित अमेरिकी पुलिस अधिकारी डेरेक चाउविन को दस लाख डॉलर के मुचलके पर रिहा कर दिया गया। बता दें कि अमेरिका के चुनावों में भी नस्लीय हिंसा बड़ा मुद्दा बना हुआ है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News