Cover
ब्रेकिंग
इस मेले में बिक रहा कोरोना गधा, मास्क पहनकर लोगों को कर रहा जागरूक हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में चर्चा का विषय बना यह मंदिर, जानें क्या है वजह? चीन के साथ तनाव के बीच भारत को मिला श्रीलंका और मालदीव का साथ किसानों के समर्थन में अन्ना हजारे, बोले- अन्नदाता की बात सुने सरकार...वो पाकिस्तानी नहीं जेसी बैंक चुनाव: रिकाउंटिंग में भी मजदूर संघ का कब्जा, वाजिद खान और नीलम, कौन बने डायरेक्टर? CA फाइनल ईयर की छात्रा का पेपर अच्छा नहीं हुआ तो लगाया फंदा, सुसाइड नोट में मांगी पेरेंट्स से माफी सिंधिया का जलवा बरकरार, हार के बाद भी मंत्री बनेगी इमरती एक और लव जिहाद: पति उर्दु अरबी पढ़ने का बनाता था दबाव, तरह तरह के पहनाता था ताबीज वीडी शर्मा जल्द करेंगे कार्यसमिति का गठन, 3-4 सिंधिया समर्थकों को मिलेगी जगह शिव ’राज’ में महापाप, पिता-चाचा समेत मासूम के साथ बर्बरता, फिर ट्रैक्टर से रौंदकर हत्या

बेटियों को न्याय दिलाने व शिव- योगी को नींद से जगाने के लिए 5 अक्टूबर को मौन धरना देगी कांग्रेस

भोपाल: उपचुनाव से पहले मध्य प्रदेश में राजनीति उफान पर है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने राज्य और देश में बेटियों हो रही दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर निशाना साधा है। इन घटनाओं के विरोध में, हमारी बहन- बेटियों की सुरक्षा की मांग को लेकर, उन्हें न्याय दिलाने की मांग को लेकर, नींद में सोई शिवराज सरकार व योगी सरकार को जगाने की मांग को लेकर कांग्रेसजन पूरे मध्यप्रदेश में, सभी ज़िला मुख्यालयों पर 5 अक्टूबर , सोमवार को गांधी प्रतिमा – बाबा साहेब आम्बेडकर की प्रतिमा के समक्ष मौन धरना देंगे।

पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट के जरिए कहा कि-एक तरफ़ भाजपा बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ का नारा बढ़ चढ़ कर देती है , दूसरी तरफ़ भाजपा शासित राज्यों में ही आज बेटियां सबसे ज़्यादा असुरक्षित है। यूपी के हाथरस की घटना हो या मध्यप्रदेश के खरगोन , सतना , जबलपुर व नरसिंहपुर की घटना हो , आज बहन- बेटियां सबसे ज़्यादा असुरक्षित है। देश में, प्रदेश में क़ानून व्यवस्था की स्थिति चौपट हो चुकी है।

आज हमारी बहन- बेटियां ना घर ना बाहर , ना दिन ना रात कही भी , कभी भी सुरक्षित नहीं है। बड़ी शर्म आती है , जब वो ज़िम्मेदार जो विपक्ष में छोटी सी घटना पर ख़ूब धरने देते थे , ख़ूब भाषण देते थे, मासूम बच्चियों को धरने पर साथ में बैठाकर ख़ूब विरोध प्रदर्शन करते थे, आज वो ग़ायब है, मौन है? बहन- बेटियों की सुरक्षा को लेकर कोई कदम नहीं उठाये जा रहे है। पीड़ित परिवारों को न्याय नहीं मिल रहा है , उनकी थानो में सुनवाई तक नहीं हो रही है , उनकी रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की जा रही है , उल्टा उन्हें ही प्रताड़ित किया जा रहा है। शिवराज सरकार में अपराधियों के हौसले बुलंद हो चले है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News