Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

गैंगरेप पीड़िता की मौत सुनकर गुस्से से लाल हुए पवन जल्लाद, कहा-6 महीने में हो सजा, मैं दूंगा फांसी

लखनऊ: हाथरस की गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद यूपी सरकार और यूपी पुलिस का बेशर्म चेहरा देखने को मिला। बेटी के शव को देखने के लिए परिजन रोते-चिल्लाते रहे लेकिन बेदर्द पुलिस को उनपर जरा भी तरस नहीं आया। मानवता की सारी हदें पार करते हुए पुलिस कर्मियों ने रात 2.45 पर अंतिम संस्कार कर दिया। यूपी सरकार और यूपी पुलिस के रवैये पर देशभर में आक्रोश है।

पीड़िता के संग हुई दरिंदगी की दस्तां निर्भया के दोषियों को फांसी पर लटकाने वाले पवन जल्लाद के कानों तक भी पहुंच गई है। पीड़िता का हाल सुन पवन जल्लाद बेहद नाराज हैं। गुस्सा इतना कि पवन हाथ की बांहे फुलाते हुए कहते हैं कि अभी इन हाथों में बहुत जान है। ऊपर वाले ने चाहा तो इन चारों को भी अंजाम तक पहुंचाऊंगा। मौका मिले तो मैं आज ही इनके लिए फंदा तैयार कर सकता हूं। उस लड़की की मां से मेरा वादा है कि मैं इस हालात में हमेशा उसके साथ हूं।

पवन जल्लाद ने कहा, ‘मैं जब निर्भया के दोषियों को फांसी दे रहा था तो मुझे अहसास था कि इसे पूरा देश देख रहा है। जो खुरापाती युवा हैं वो भी देख-सुन रहे होंगे। शायद इसे देखने के बाद अब कोई और युवा ऐसे कांड को अंजाम नहीं देगा। लेकिन जब मैंने हाथरस गैंगरेप केस की इस पीड़िता की मौत की खबर सुनी तो अहसास हुआ कि ऐसे लोग कभी नहीं सुधरेंगे।

पवन जल्लाद ने अपनी पीड़ा जाहिर करते हुए कहा है, निर्भया केस को मैंने बारीकी से देखा है। कैसे केस को एक-एक पल के लिए खींचकर उसे लंबा किया गया। दोषियों को राहत पहुंचाने की कोशिश की गई। लेकिन मेरा अब सरकार और पुलिस-प्रशासन से अनुरोध है कि इस हाथरस गैंगरेप केस को फॉस्ट ट्रैक कोर्ट में चलाएं। ज्य़ादा से ज्य़ादा 6 महीने में हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी कर आरोपियों को सजा दें और मुझे फांसी देने का मौका दें। जिससे बुरा करने वालों को फांसी देकर मुझे सुकून मिले।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News