Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

UP में पहले गुंडों का खौफ था, अब सरकार से गुंडे खौफ खाते हैं: डिप्टी CM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि उत्तर प्रदेश बदल रहा है। साथ ही पूर्वांचल भी। पहले यहां लोगों में गुंडों का खौफ था, अब गुंडों में सरकार का खौफ है। यह है प्रदेश की कानून व्यवस्था। गोरखपुर विश्वविद्यालय में पूर्वाचल के सतत विकास पर आयोजित राष्ट्रीय वेबिनार व संगोष्ठी में विनिर्माण क्षेत्र के सातवें तकनीकी सत्र की अध्यक्षता करते हुए उपमुख्यमंत्री केशव ने कहा कि बदले माहौल, बेहतर बुनियादी सुविधाओं और निवेश फ्रेंडली नीतियों के नाते उप्र इज ऑफ डूइंग बिजनेस में ऊंची छलांग लगाकर दूसरे नंबर पर पहुंचा। आज उत्तर प्रदेश निवेशकों का पसंदीदा स्थल है।

उन्होंने कहा कि पहले यहां लोगों में गुंडों का खौफ था, अब गुंडों में सरकार का खौफ है। उन्होंने कहा कि, “बुनियादी सुविधाओं की तो पूर्वाचल, बुंदेलखंड और गंगा एक्सप्रेसवे के जरिए शीघ्र ही हम देश के सारे महानगरों से जुड़ जाएंगे। जेवर जैसे ग्रीन फील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट, कुशीनगर, अयोध्या इंटरनेशनल और अन्य एयरपोर्ट के जरिए पूरी दुनिया हमारी पहुंच में होगी।”

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि, “सत्ता में आने के बाद हमने 67 स्टेट हाईवे बनाए। हम इको फ्रेंडली सड़कें भी बना रहे हैं। हर्बल रोड और प्लास्टिक एवं अन्य वेस्ट से बनने वाली सड़कें इसका सबूत हैं। लोगों को प्रेरित करने के लिए शहीदों, टॉपर विद्यार्थियों और नामचीन लोगों के नाम से सड़कें बना रहे हैं।” उन्होंने लोक निर्माण विभाग के सामाजिक सरोकारों का भी जिक्र किया। यह भी कहा कि यहां के तीन दिन के मंथन से निकले निचोड़ को जमीनी हकीकत देने के लिए मिल जुलकर बैठेंगे। यहां से निकले नतीजों पर अमल कर पूर्वाचल की तरक्की को और तेज करेंगे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News