Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

शहडोल में 6 बच्चों की मौत के बाद गर्माई सियासत, CM शिवराज ने बुलाई अपात बैठक

भोपाल: मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के कुशाभाऊ में बच्चों की लगातार हो रही मौत के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपात बैठक बुलाई है। बीते 48 घंटे में 6 बच्चों की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप की स्थिति है। वहीं मामले को लेकर CMHO ने जांच के आदेश दिए हैं। 
​​​​​​​

दरअसल संभाग के सबसे बड़े कुशाभाऊ ठाकरे जिला अस्पताल में 48 घंटे के अंदर एक के बाद एक 6 नवजात बच्चों की मौत हो गई।  नवजातों की मौत की खबर लगते ही शहडोल से लेकर भोपाल तक हड़कंप मच गया है। बच्चों के मौत के मामले को लेकर अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही सामने आई है। अस्पताल प्रबंधन लगातार बच्चों की मौत के मामले को छिपाने का प्रयास कर रहा था। 48 घंटे के अंदर पहले जिन बच्चों की मौत हुई। उनमें से बुढ़ार के अरझूली का 4 माह का बच्चा पुष्पराज, सिंहपुर के बोडरी का 3 माह का बच्चा राज कोल, 2 माह का प्रियांश, व उमरिया जिले के 3 दिन की निशा, सोहागपुर अंतर्गत ग्राम कटहरी के मुकेश बैगा की 3 माह की बच्ची काजल शामिल है। इस घटना को जिला अस्पताल प्रबंधन लगातार छिपाने का प्रयास कर रहा था। वहीं मृत बच्चों के परिजन बच्चों की मौत के लिए अस्पताल प्रबंधन को जिम्मेवार ठहरा रहे है।

वहीं 6 बच्चों की मौत के बाद कांग्रेस ने भी सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। शहडोल जिला कांग्रेस कमेटी आईटीसेल द्वारा बच्चों के मौत के मामले को लेकर CMHO राजेश पांडेय को जिम्मेदार ठहराते हुए मृत बच्ची का शव लेकर उनके परिजनों के साथ जिला अस्पताल के मुख्य द्वार पर विरोध करते रहे। तो वहीं सीएम शिवराज ने भी मामले को गंभीरता से लेते हुए अपातकाल बैठक बुलाई है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News