Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

गर्भावस्था में झारखंड से ग्वालियर स्कूटी पर आई सोनी ने दिया बेटे को जन्म

ग्वालियर। झारखंड के गोड्डा से 1,176 किलोमीटर स्कूटी पर सफर कर मध्य प्रदेश के ग्वालियर आने वाले दंपती सोनी व धनंजय हेम्ब्रम को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई है। एक सितंबर, 2020 को डीएलएड अंतिम वर्ष की परीक्षा देने सोनी छह महीने की गर्भावस्था में पति धनंजय के साथ स्कूटी से ग्वालियर आई थीं। परीक्षा के लिए इतना लंबा सफर स्कूटी से करने के चलते यह दंपती काफी चर्चित हुआ था। 21 नवंबर को सुबह 5:55 बजे सोनी ने गोड्डा के एक निजी अस्पताल में बेटे को जन्म दिया। बच्चे की प्री-मॅच्योर डिलीवरी हुई है, डॉक्टरों के मुताबिक बच्चे का वजन कम है इसलिए उसे चार दिन तक डॉक्टरों की देखरेख में अस्पताल में ही रखा जाएगा।

संतान प्राप्ति की खुशखबरी 

धनंजय ने सबसे पहले नईदुनिया ग्वालियर को सुबह 6:50 बजे दी। उन्होंने सोनी के गर्भावस्था के दौरान नईदुनिया द्वारा मुहैया कराई गई तमाम तरह की मदद के लिए धन्यवाद दिया।

विधायक ने की थी मदद

धनंजय ने बीते 17 नवंबर को नईदुनिया से संपर्क कर परेशानी बताई थी कि सोनी का स्वास्थ्य ठीक नहीं है। गर्भ संबंधी समस्या है। सरकारी अस्पताल में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिल पाना मुश्किल हो रहा है। ऐसे में नईदुनिया संवाददाता ने झारखंड के महगामा विधानसभा क्षेत्र की कांग्रेस विधायक दीपिका पांडेय से संपर्क किया और मदद के लिए कहा। विधायक ने तत्काल सोनी को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई। सोनी निजी अस्पताल में भर्ती थीं, जहां सारा खर्चा उठाने की जिम्मेदारी दीपिका ने ली।

स्कूटी से 1,176 किमी का सफर

धनंजय गर्भवती पत्नी सोनी को डीएलएड की परीक्षा दिलाने तीन दिन स्कूटी चलाकर सितंबर में ग्वालियर पहुंचे थे। गोड्डा जिला बांग्लादेश की सीमा से बमुश्किल 150 किलोमीटर दूर है। धनंजय ने करीब 1,176 किमी स्कूटी चलाई और झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश के तमाम शहरों के कच्चे-पक्के रास्तों से गुजरे। परीक्षा दिलाने के लिए ग्वालियर के दीनदयाल नगर में किराए से एक कमरा भी लिया था।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News