Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

दिल्ली-NCR में गंभीर श्रेणी में पहुंचा प्रदूषण का स्तर, पटाखों का प्रतिबंध हो गया धुआं-धुआं

नई दिल्ली। Delhi Air Pollution 2020: दिल्ली-एनसीआर में मनाही के बावजूद दिवाली पर जमकर पटाखे फोड़े गए। इसकी वजह से प्रदूषण में जबरदस्त इजाफा हुआ है। राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी में पहुंच गया है। वायु प्रदूषण के कारण ज्यादातर इलाकों में धुंध छा गया है। इसकी वजह से दृश्यता काफी कम हो गई है।  दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) के आंकड़े के अनुसार, रविवार सुबह दिल्ली के आइटीओ का एयर क्वालिटी इंडेक्स 461दर्ज किया गया।

मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली से सटे नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद में प्रदूषण में बढ़ोतरी हुई है। यहां पर भी हवा खराब श्रेणी में पहुंच गई है।

आग में झुलकर एक की मौत

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार, दिल्ली के मुंडका इलाके में शनिवार रात एक गोदाम में आग लग गई। आग में झुलकर एक शख्स की मौत हो गई। दमकल की 22 गाड़ियों ने आग पर काबू पाया।

यमुनापार में पटाखों का प्रतिबंध हो गया धुआं-धुआं

दिल्ली सरकार व एनजीटी द्वारा पटाखों के फोड़ने पर लगाया गया प्रतिबंध दीपावली पर यमुनापार में धुआं-धुआं हो गया। शाम से शुरू हुई आतिशबाजी रात तक जारी रही। यमुनापार में ऐसा कोई इलाका नहीं बचा जहां आतिशबाजी न हुई हो। आसमान में प्रदूषण छाया रहा। पुलिस और प्रशासन की नाक के नीचे लोगों ने जमकर आतिशबाजी की। सड़क से लेकर पार्क व घरों की छतों पर जमकर पटाखे फोड़े गए। बहुत से लोगों ने सिर्फ यह सोचकर पटाखे फोड़े की सिर्फ दीवाली पर ही प्रतिबंध क्यों लगाया जाता है। जिस तरह से दीवाली पर आतिशबाजी हुई उससे जग जाहिर है कि प्रशासन प्रतिबंध लगाने में नाकाम साबित हुआ और दीवाली से पहले चोरी छिपे जमकर पटाखों की बिक्री हुई। प्रदूषण से लोगों को सांस लेने में काफी समस्या हो रही है। सबसे ज्यादा परेशानी कोरोना संक्रमितों को उठानी पड़ी। धुएं से बचने के लिए बहुत से लोगों ने शाम से अपने घर के दरवाजे व खिड़कियां बंद कर ली थी।

गुरुग्राम में भी फोड़े गए पटाखे

वहीं, देशभर में दीपावली धूमधाम से मनाई गई, लेकिन साइबर सिटी के सुशांत लोक, पालम विहार, सरस्वती विहार, चक्करपुर, अर्जुन नगर, सेक्टर सात एक्सटेंशन, सोहना रोड स्थित कई सोसायटियों की बात करें तो यहां पटाखे खूब फोड़े गए। हालांकि एनजीटी ने दीपावली पर आतिशबाजी करने पर रोक लगा रखी है, इसके बावजूद गुरुग्राम में जमकर आतिशबाजी हुई। आतिशबाज़ी के बाद देर रात साइबर सिटी की गगनचुंबी इमारतें एंव दिल्ली-गुरुग्राम एक्सप्रेस वे वायु प्रदूषण व धुंध में सिमटा नज़र आया। साइबर हब के समीप धुएं का गुब्बार नजर आया। वहीं हर तरफ जले हुए पटाखे बिखरे नजर आए।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News