Cover
ब्रेकिंग
इस मेले में बिक रहा कोरोना गधा, मास्क पहनकर लोगों को कर रहा जागरूक हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में चर्चा का विषय बना यह मंदिर, जानें क्या है वजह? चीन के साथ तनाव के बीच भारत को मिला श्रीलंका और मालदीव का साथ किसानों के समर्थन में अन्ना हजारे, बोले- अन्नदाता की बात सुने सरकार...वो पाकिस्तानी नहीं जेसी बैंक चुनाव: रिकाउंटिंग में भी मजदूर संघ का कब्जा, वाजिद खान और नीलम, कौन बने डायरेक्टर? CA फाइनल ईयर की छात्रा का पेपर अच्छा नहीं हुआ तो लगाया फंदा, सुसाइड नोट में मांगी पेरेंट्स से माफी सिंधिया का जलवा बरकरार, हार के बाद भी मंत्री बनेगी इमरती एक और लव जिहाद: पति उर्दु अरबी पढ़ने का बनाता था दबाव, तरह तरह के पहनाता था ताबीज वीडी शर्मा जल्द करेंगे कार्यसमिति का गठन, 3-4 सिंधिया समर्थकों को मिलेगी जगह शिव ’राज’ में महापाप, पिता-चाचा समेत मासूम के साथ बर्बरता, फिर ट्रैक्टर से रौंदकर हत्या

रोहित शर्मा ने कहा- मुझे सूर्यकुमार यादव के लिए अपना विकेट कुर्बान करना चाहिए था

नई दिल्ली। मुंबई इंडियंस ने आइपीएल 2020 के फाइनल में दिल्ली कैपिटल्स की टीम को 5 विकेट से हराकर लगातार दूसरे साल आइपीएल खिताब पर कब्जा किया। हालांकि 13 सीजन में इस टीम ने 5 बार ये खिताब अपने नाम किया है। टीम की इस शानदार सफलता के बाद कप्तान रोहित शर्मा काफी खुश नजर आए और उन्होंने कहा कि हमारी टीम अपनी जीत की आदत को बनाए रखने में सफल रही और यही कारण है कि हमने फिर से खिताब अपने नाम कर लिया।

रोहित शर्मा ने कहा कि, मुझे अपनी टीम के खिलाड़ियों से बेस्ट प्रदर्शन करवाने के लिए सही संतुलन तलाशना था और मैं उन कप्तानों में से नहीं हूं जो खिलाड़ियों के पीछे पड़ा रहे। टीम के खिलाड़ियों में आत्मविश्वास बना रहे ये काफी जरूरी है और टीम के खिलाड़ी जैसे की हार्दिक पांड्या, क्रुणाल व पोलार्ड लंबे समय से खेल रहे हैं और वो जानते हैं कि उन्हें क्या करना है। टीम ने जिस तरह से इस पूरे सीजन में प्रदर्शन किया उससे मैं काफी खुश हूं और मैंने शुरुआत में ही कहा था कि हमें जीत की आदत बनाए रखने की जरूरत है। टीम के सहयोगा स्टाफ की भी जीत में बड़ी भूमिका रही और इससे ज्यादा की उम्मीद हम नहीं कर सकते थे। हमने इस सीजन की पहली गेंद से ही प्रयास शुरू कर दिए थे और फिर हमने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

दिल्ली के खिलाफ फाइनल मैच में राहुल चाहर को प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया था और इसके बारे में रोहित ने कहा कि ये टीम की रणनीति का हिस्सा था। उनका इस मैच में नहीं खेलना हमारी रणनीतिक चाल थी। हमने इस मुकाबले में ये सुनिश्चित किया था कि सूर्यकुमार यादव और इसान किशन पूरे आत्मविश्वास के साथ दिल्ली के खिलाफ खेलें। रोहित को रन आउट होने से बचाने के लिए सूर्यकुमार ने अपना विकेट गंवाया था और इस बारे में मुंबई के कप्तान ने कहा कि वो जिस तरह की फॉर्म में है मुझे उसके लिए अपना विकेट गंवाना चाहिए था। उन्होंने इस पूरे सीजन में बेहतरीन बल्लेबाजी की और टीम की सफलता में बड़ी भूमिका निभाई।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News