Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

क्या सिंधिया समर्थको के टिकट काटेगी बीजेपी ! नाम तय, फिर भी घोषणा क्यों अटकी ?

भोपाल: विधानसभा की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए बीजेपी ने अपने 25 प्रत्याशियों के नाम फाइनल कर लिए हैं। लेकिन 3 सीटें आगर, जौरा और ब्यावरा पर प्रत्याशियों को लेकर पेंच फसा हुआ है। क्योंकि सत्ता में काबिज रहने के लिए पार्टी कोई रिसक नहीं लेना चाहती। इसलिए हर फैसला सोच समझ कर लेना चाहती है। इसीलिए प्रत्याशियों के नामों की घोषणा को फिलहाल अभी एक दो दिन और टाल दिया गया है। नामांकन जमा करने में मात्र 10 दिन शेष है। कांग्रेस भी अभी अपनी 4 सीटों पर नाम की घोषणा नहीं करी है। कयास लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी की लिस्ट जारी होने के बाद ही कांग्रेस इन सीटों पर प्रत्याशी फाइनल करेंगी।

आगर, ब्यावरा और जौरा में प्रत्याशी चयन पर फंसा पेंच
बताया जा रहा है कि आगर, ब्यावरा और जौरा में प्रत्याशी चयन पर पार्टी प्रत्याशियों को लेकर असमंझस की स्थिति में हैं। इन तीनों सीट के प्रत्याशियों के नाम पर मोहर लगाने में वरिष्ठ नेताओं को पसीना आ रहा है। सूत्रों की माने तो सिंधिया समर्थकों की हालत बहुत खराब है संघ की एक रिपोर्ट के मुताबिक 22 सिंधिया समर्थकों में सिर्फ तीन या चार चेहरे ही जीत सकते हैं इसलिए पार्टी सिंधिया समर्थकों के टिकट काटने का मन बना रही है। इसलिए ब्यावरा और जौरा में सम्भावित प्रत्याशी को लेकर बीजेपी के स्थानीय कार्यकर्ता के विरोध के बाद तीनों सीटों के लिए एक बार फिर स्थानीय नेताओं से फीडबैक लिया जाएगा। कोई भी फैसला चर्चा के बाद ही लिया जाएगा

बता दें कि पिछले दिनों जौरा विधानसभा से संभावित प्रत्याशी सूबेदार सिंह जो नरेंद्र सिंह तोमर के खास हैं उनका जमकर विरोध हुआ था। यहां तक कि यह विरोध नरेंद्र सिंह तोमर के सामने हुआ था। वहीं ब्यावरा से पूर्व विधायक नारायण सिंह पवार के खिलाफ सैकड़ों बीजेपी कार्यकर्ता भोपाल पहुंचे और सीएम हाउस पहुंचकर अपना विरोध दर्ज कराकर पवार को टिकट नहीं देने की मांग की थी। ऐसी ही स्थिति आगर में भी देखने को मिल रही है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News