Cover
ब्रेकिंग
याेगी सरकार ने लव जिहाद कानून काे दी मंजूरी, साधू संतों ने फैसले का किया स्वागत अहमद पटेल के निधन पर बोले दिग्विजय- वे सभी कांग्रेसियों के लिए हर राजनैतिक मर्ज़ की दवा थे विजय सिन्‍हा चुने गए स्‍पीकर ,पक्ष में पड़े 126 वोट, विपक्ष में 114 नगरोटा साजिश के पीछे था पाक का हाथ! आतंकियों के पास से मिले डिवाइस ने खोले कई राज राहुल गांधी ने किए तरुण गोगोई के अंतिम दर्शन, बोले- मैंने अपने गुरु को खो दिया चौहान, कमलनाथ, दिग्विजय, सिंधिया ने पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया अहमद पटेल के निधन पर बोले दिग्विजय- वे सभी कांग्रेसियों के लिए हर राजनैतिक मर्ज़ की दवा थे आज तमिलनाडु के तटों से टकराएगा 'निवार', MP में दिखेगा असर, बदलेंगे मौसम के मिजाज UP के बाद मध्य प्रदेश में जल्द बनेगा लव जेहाद के खिलाफ कानून, गृहमंत्री ने बुलाई अहम बैठक पश्चिम रेलवे की पहली किसान रेल सेवा शुरु, सांसद शंकर लालवानी ने दिखाई हरी झंडी

रक्षा मंत्रालय ने सेना के वास्ते हथगोलों की खरीद के लिए 409 करोड़ रूपए का किया सौदा

नई दिल्लीः रक्षा मंत्रालय ने भारतीय सेना को 409 करोड़ रूपए की अनुमानित लागत से 10,00,000 हथगोलों की आपूर्ति करने के लिए नागपुर की एक कंपनी के साथ बृहस्पतिवार को एक करार पर दस्तखत किए। मंत्रालय ने कहा कि ये ‘मल्टी-मोड’ हथगोले भारतीय सेना द्वारा उपयोग में लाए जा रहे द्वितीय विश्वयुद्ध काल के विंटेज गोलों की जगह लेंगे।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘रक्षा मंत्रालय की खरीद शाखा ने सेना को 409 करोड़ रूपए की अनुमानित लागत से 10,00,000 मल्टी-मोड हथगोलों की आपूर्ति करने के लिए नागपुर की मैसर्स इकॉनोमिक एक्सप्लोसिव लिमिटेड के साथ एक अनुबंध पर आज हस्ताक्षर किए।” अधिकारियों के अनुसार इन ग्रेनेड का डिजाइन रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने तैयार किया है। मंत्रालय ने कहा कि इनका उपयोग बचाव एवं प्रहार दोनों स्थितियों में किया जा सकता है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News