Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

विद्या बालन को डिनर ऑफर करने वाले मंत्री शाह की सफाई- मैंने नहीं उन्होंने बुलाया था मुझे

इंदौर: अभिनेत्री विद्या बालन को डिनर ऑफर देकर चर्चा में आए मध्य प्रदेश के वनमंत्री विजय शाह ने चुप्पी तोड़ते हुए सारे आरोपों को निराधार बताया। खुद पर लगे आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि, डिनर की पेशकश शूटिंग टीम की तरफ से की गई थी, जिस पर मैंने कहा था कि यह संभव नहीं हो पाएगा। शूटिंग केंसिल नहीं हुई शासन प्रशासन और वन विभाग के सहयोग से शूटिंग निरन्तर चलती रही है।

वन मंत्री शाह ने कहा, “मैं पूछना चाहता हूं शूटिंग कब केंसिल हुई, बालाघाट में शूंटिग करने वाली टीम ने प्रशासन से अनुमति ली थी, इसके बाद उन्होंने मेरे साथ डिनर का अनुरोध किया था। मैंने कहा कि अभी संभव नहीं है। मैं महाराष्ट्र जाने पर उनसे मिलूंगा। डिनर का प्रोग्राम रद्द कर दिया गया था। ना कि शूटिंग कैंसिल की गई थी।  वन मंत्री ने आगे कहा कि, अक्टूबर से शूटिंग चल रही थी, मैं नही गया, उन्होंने कहा था आप जब महाराष्ट्र जाए तो बालाघाट होते हुए जाए हमारी यूनिट के साथ डिनर करिए। जब मैं एक महीने बाद बालाघाट गया तो वहां से महाराष्ट्र गया तो किसी कारण से डिनर केंसिल हो गया। ये कारण तो उनसे पूछा जाना चाहिए जिन्होंने अनुमति ली। शूटिंग केंसिल नहीं हुई शासन प्रशासन और वन विभाग के सहयोग से शूटिंग निरन्तर चलती रही।”

आपको बता दें कि विद्या बालन की फिल्म शेरनी की शूटिंग बालाघाट में चल रही थी। इसके लिए 20 अक्टूबर से 21 नवंबर तक की मंजूरी ली गई थी। इसी बीच वनमंत्री ने विद्या बालन से मुलाकात के बाद डिनर की इच्छा जताई। चूंकि विद्या बालन महाराष्ट्र के गोंदिया में रुकी हुई थीं, लिहाजा उन्होंने डिनर के लिए मना कर दिया। बताया जा रहा है कि न सुनने के बाद वनमंत्री भड़के उठे दूसरे दिन जब फिल्म से जुड़े लोग रोज की तरह वहां पहुंचे तो साउथ DFO जीके बरकड़े ने प्रोडक्शन यूनिट की गाड़ियां रोक दी थी। अचानक वन विभाग के इस रुख की जानकारी बड़े अफसरों तक पहुंची तो तुरंत DFO को निर्देश दिया गया। तब शूटिंग शुरू हो सकी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News