Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

मध्य प्रदेश में युवती ने प्रशासन पर लगाया पिता के हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई न करने आरोप

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक युवती ने अपने पिता की हत्या से जुड़े मामले में प्रशासन पर हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई न करने आरोप लगाते हुए रविवार को अपनी कलाई की नसों को ब्लेड से काटकर आत्महत्या करने की कोशिश की और इसका वीडियो ट्विटर पर डाल दिया।
हालांकि, पुलिस का कहना है कि युवती की शिकायत पर कार्रवाई की गई।
किरण राजपूत नाम की इस लड़की ने सुसाइड नोट के साथ एक वीडियो ट्विटर पर पोस्ट करते हुए कहा कि पुलिस ने आरोपियों के साथ मिलकर हमारा प्रकरण बिगाड़ा है।

इस वीडियो में वह हाथ जोड़कर रोते हुए कह रही है, ‘‘हम बहुत लाचार हैं। बहुत गरीब हैं। न्याय की भीख मांग रहे हैं सरकार से। छह महीने हो गये। (शिकायत पत्र दिखाते हुए कहती है कि) इन शिकायतों को मैं विभिन्न अधिकारियों को दे चुकी हूं। मेरे पास सारे सबूत हैं। पुलिस वालों ने गुड्डू (एक आरोपी) के साथ मिलकर हमारे केस को बिगाड़ा। गलत चार्जशीट हत्यारों के पक्ष में बनाई और गलत एफआईआर दर्ज की।
इसमें वह आगे कह रही है, ‘‘मेरी मां और मैं पिछले छह महीने से सीएम (मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान) से मिलने के लिए भटक रहे हैं। उनके घर के सामने खड़े होते हैं, तो पुलिस वाले धक्के देकर भगा देते हैं। उनके घर के आसपास सुबह 10 बजे से शाम के छह बजे तक खड़े रहते हैं हम।’’ इस युवती ने आगे कहा, ‘‘सिर्फ मेरे पापा को न्याय दिलाने की आस को लेकर हम जिंदा थे। प्रशासन सुनने को तैयार नहीं है। (ब्लेड से अपने हाथ की नस काटते हुए वह आह की चीख के साथ कहती है) अंधा और बहरा हो गया है प्रशासन। मैं आत्महत्या कर रही हूं, जिसका जिम्मेदार ये अंधा प्रशासन है। प्रशासन ही मेरी मौत का जिम्मेदार है।’’ इस बारे में पूछे जाने पर गोविंदपुरा थाना प्रभारी अशोक सिंह परिहार ने ‘भाषा’ को बताया कि सूचना मिलने पर इस लड़की को उपचार के लिये तुरंत शहर के नर्मदा अस्पताल ले जाया गया, जहां उसके हाथ में पट्टी लगवाई गई। उसकी कलाई बहुत ज्यादा कटी हुई नहीं है। वह अब सामान्य है। उसके बयान लेने के लिए उसे थाने में लाया गया है और उसके बयान लिखवाये जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि युवती की आखिरी रिपोर्ट के बाद भोपाल की गोविंदपुरा थाने की पुलिस ने 12 व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज कर सभी को गिरफ्तार कर लिया है और उन सभी के खिलाफ अदालत में चालान भी पेश कर लिया है। अभी यह मामला अदालत में विचाराधीन है।
इस साल अप्रैल में एक ट्वीट कर इस युवती ने आरोप लगाया था कि उसके पिता को आठ लोगों ने बुरी तरह पीटा है और तीन दिन बाद उसकी मौत हो गई। इस ट्वीट के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें न्याय दिलाने का आश्वासन दिया था।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News