Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा आचार संहिता का उल्लंघन नहीं: चुनाव आयोग

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी द्वारा बिहार विधानसभा चुनावों के लिए जारी घोषणापत्र (manifesto) में मुफ्त कोरोना वायरस वैक्सीन मुहैया कराने के वादे को आचार संहिता का उल्लंघन नहीं बताया है। RTI कार्यकर्ता साकेत गोखले (Saket Gokhale) द्वारा दर्ज कराए गए शिकायत पर जवाब देते हुए आयोग ने कहा कि मामले में आचार संहिता के प्रावधानों का उल्लंघन नहीं किया जा रहा है। साकेत गोखले द्वारा दर्ज शिकायत में दावा किया गया है कि यह वादा भेदभाव है और चुनाव के दौरान केंद्र सरकार द्वारा सत्ता का दुरुपयोग है।

सूत्रों के अनुसार, आयोग ने आदर्श चुनाव आचार संहिता के भाग VIII में निहित चुनाव घोषणापत्रों के लिए कुछ दिशानिर्देशों का हवाला दिया और बताया कि मुफ्त  वैक्सीन का वादा आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है। राष्ट्रीय जनता दल  (RJD), कांग्रेस (Congress),  शिवसेना (Shiv Sena), समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और नेशनल कॉन्फ्रेंस ( National Conference) की ओर से बिहार के लिए मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराने वाले भाजपा के वादे पर सवाल उठाया गया। इनका कहना है कि भाजपा मामले की राजनीतिकरण करने में जुटी है। इसपर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भाजपा को आड़े हाथों लिया और कहा कि राज्यवार चुनावों से यह पता चल सकेगा कि किस राज्य को कब वैक्सीन उपलब्ध हो सकेगा। इस माह के शुरुआत में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भाजपा का घोषणापत्र जारी किया था जिसमें मुफ्त कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध कराने का वादा किया गया है।

विपक्षी पार्टियों ने मुफ्त कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर किए गए भारतीय जनता पार्टी के वादे पर हमलावर रुख अपनाते हुए चुनाव आयोग से कार्रवाई की मांग की और आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ पार्टी राजनीतिक लाभ के लिए महामारी का इस्तेमाल कर रही है। भाजपा के खिलाफ शिकायत करने वाले गोखले ने ट्विटर पर शुक्रवार को लिखा, ‘भारतीय चुनाव आयोग ने इस तथ्य को नजरअंदाज कर दिया कि केंद्र सरकार ने मुफ्त वैक्सीन का ऐलान एक विशेष राज्य के लिए किया।’

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News