Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

देशभर में मनाया जा रहा ईद मिलाद-उन नबी, PM मोदी ने दी शुभकामनाएं, कहा- सभी ओर कायम रहे भाईचारा

नई दिल्ली। देशभर में ईद मिलाद-उन नबी मनाया जा रहा है। पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिन के तौर सेलिब्रेट किया जा रहा ह। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत दिग्गजों ने शुभकामनाएं दी है। मोदी ने ट्वीट करते लिखा,’ मिलाद-उन-नबीं की शुभकामनाएं। आशा है कि यह दिन सभी ओर करुणा और भाईचारा कायम रखे। सब लोग स्वस्थ और प्रसन्न रहें। ईद मुबारक!’।

ईद ए-मिलाद  29 अक्टूबर से 30 अक्टूबर की शाम तक मनाया जा रहा है। बता दें कि इस बार कोरोना के चलते पैंगंबर मोहम्मद की याद में मुस्लिम समुदाय जुलूस नहीं निकाल रहा है। इस खास मौके पर भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश में 30 अक्टूबर तक दावत होगी।

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस खास मौके पर सभी लोगों को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘ईद-ए-मिलाद-उन-नबी के मौके पर दयालुता और भाईचारे की भावना सभी का मार्गदर्शन कर सकती है बहुत मुबारकबाद’।

इसके साथ ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस मौके पर देशावासियों को मुबारकबाद दी है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लिखा कि सभी को मिलाद-उन-नबी की मुबारकबाद। यह त्योहार सभी को हमारे समाज में सद्भाव और सौहार्द के बंधन को मजबूत करने की दिशा में काम करने के लिए प्रेरित करता है।

बता दें कि ईद-ए-मिलाद-उन-नबी प्रत्येक वर्ष पैगम्बर मोहम्मद के जन्म दिवस के रुप में मनाया जाता है। इस मौके पर अल्लाह के आखिरी पैगंबर की जीवनी के बारे में लोगों को बताने का रिवाज है। इस्लामी कैलेंडर के तीसरे महीने रबी अव्वुल में धूमधाम से जश्न की शुरुआत होती है। दुनिया के कई इलाकों में पैगंबर के जन्म दिवस पर खास इंतजाम प्रत्येक वर्ष किए जाते हैं। जुलूस का आयोजन करने के साथ-साथ सभी लोग अपने घरों को भी सजाते हैं और कुरआन की तिलावत और इबादत भी की जाती है। इसके साथ ही गरीबों को दान-पुण्य भी किए जाते हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News