विज्ञान एवं इंजीनियरिंग क्षेत्र में बढ़ेगी महिलाओं की भागीदारी, शुरू हुई ये योजना

नई दिल्ली। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने गुरुवार को सर्ब-पावर योजना की शुरुआत की, जिसका उद्देश्य विज्ञान एवं इंजीनियरिंग के क्षेत्र में महिला शोधकर्ताओं को शोध एवं विकास गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित करना है। योजना के तहत शैक्षणिक एवं शोध संस्थानों में नियमित महिला शोधकर्ताओं को दो श्रेणियों में उच्च स्तर के अनुसंधान एवं विकास कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

ये दो श्रेणियां हैं- सर्ब पावर फेलोशिप और सर्ब पावर शोध अनुदान। सर्ब पावर फेलोशिप के तहत शीर्ष महिला शोधकर्ताओं को तीन वर्षो के लिए व्यक्तिगत फेलोशिप और शोध अनुदान दिया जाएगा। सर्ब पावर शोध अनुदान के तहत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के सभी संकायों में उच्च प्रभाव वाले शोध के लिए आर्थिक मदद दी जाएगी। विज्ञान एवं इंजीनियरिंग शोध बोर्ड (सर्ब) विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के तहत निकाय है। डिजिटल समारोह में हर्षवर्धन ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी क्षेत्र में महिला शोधकर्ताओं को सशक्त बनाने पर जोर दिया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News