Cover
ब्रेकिंग
नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय अर्नब को अंतरिम बेल देने के कारणों को SC ने किया स्पष्ट, कहा- पुलिस FIR में लगाए गए आरोप नहीं हुए साबित आईआईटी और एनआईटी मातृभाषा में इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम चलाएंगे, IIT-BHU में हिंदी से होगी शुरुआत गुजरात: राजकोट के कोरोना अस्पताल में लगी भीषण आग, 5 मरीजों की मौत मुख्यमंत्री ने सिद्धू के साथ कयासबाजियों को किया खारिज, हरीश रावत के प्रयास से मिटी दूरियां डोनाल्ड ट्रंप ने मान ली अपनी हार, बोले- छोड़ दूंगा व्हाइट हाउस मतदाताओं से संपर्क स्थापित करें कार्यकर्ता: स्वतंत्र देव पाकिस्तान ने ठंडे बस्ते में डाले भारत के डोजियर, तमाम सुबूतों के बावजूद साजिशकर्ताओं पर नहीं कसा शिकंजा

बैंकाक में लोकतंत्र समर्थकों ने फिर रैली निकाली, प्रधानमंत्री वापस जाओ के नारे लगाए

बैंकाक। थाईलैंड के लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों ने बुधवार को यहां तीसरी बड़ी रैली निकाली। इस दौरान पुलिस और सरकार सम‌र्थ्रकों से टकराव की आशंका बनी रही। रास्ते में सरकार समर्थकों ने भी अपनी ताकत दिखाई। समर्थन और विरोध के शक्ति प्रदर्शन से दिन भर तनाव की स्थिति बनी रही।

आंदोलनकारियों ने कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच प्रधानमंत्री वापस जाओ नारे लगाते हुए डेमोक्रेसी मोन्यूमेंट से गवर्नमेंट हाउस तक जुलूस निकाला। जुलूस के दौरान सरकार समर्थकों ने इन पर प्लास्टिक की बोतलें फेंकी और गुत्थमगुत्था की। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि रैली का विरोध करने वालों के पीछे स्थानीय प्रशासन का हाथ है। प्रशासन के ट्रकों में लाए जाने के उनके वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहे हैं।

लोकतंत्र समर्थकों ने एक दिन पहले ही रैली निकालने की योजना बनाई थी। पुलिस ने इस समूचे क्षेत्र की घेराबंदी कर ली थी, इस दौरान पुलिस अपनी वर्दी में न होकर पीले रंग की टी-शर्ट में थी। पीला रंग यहां राजशाही के प्रति समर्थन का माना जाता है। सरकार समर्थक भी पीले रंग की टी-शर्ट पहनकर समर्थन जता रहे थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News