ब्रेकिंग
Led di a Dynamic Duo, Elegant Introductions features Boutique Matchmaking per datari di alto livello Reduces costs of the Merger Process दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा

विजय सिन्‍हा चुने गए स्‍पीकर ,पक्ष में पड़े 126 वोट, विपक्ष में 114

पटना ।  बिहार के संसदीय इतिहास में अरसे बाद विधानसभा अध्यक्ष पद का आज चुनाव हुआ है। प्रोटेम स्‍पीकर जीतन राम मांझी ने विजय कुमार सिन्‍हा के बिहार विधान सभा के स्‍पीकर पद पर निर्वाचित होने की घोषणा की । उन्‍होंने कहा- हां के पक्ष में 126 और ना के पक्ष में 114 वोट पड़े । हां के पक्ष में बहुमत है।  बुधवार को हंगामे के बीच चले सदन में मत विभाजन से अध्यक्ष पद का फैसला हुआ। राजग प्रत्याशी विजय सिन्हा के पक्ष में 126 विधायकों ने खड़े होकर अपना समर्थन दिया, जबकि उनके विरोध में 114 विधायक खड़े हुए थे। नवनिर्वाचित अध्यक्ष विजय सिन्हा को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ससम्‍मान आसन ग्रहण करवाया । विजय सिन्हा लखीसराय से भाजपा के विधायक हैं।

सत्ता पक्ष के विजय सिन्हा के मुकाबले महागठबंधन की ओर से अवध बिहारी चौधरी को प्रत्याशी बनाकर लड़ाई को दिलचस्प बना दिया गया था। स्पीकर का चुनाव सदन में बहुमत का खेल है। जिस गठबंधन के पास ज्यादा विधायकों की संख्या होगी, उसकी जीत तय है। इस हिसाब से राजग उम्मीदवार विजय सिन्हा की जीत सुनिश्चित थी। राजग के पास लोजपा एवं निर्दलीय को मिलाकर 127 विधायक हैं, जबकि महागठबंधन के पास मात्र 110 विधायक हैं। ओवैसी की पार्टी ने अभी अपना स्टैंड साफ नहीं किया है। ऐसे में दोनों गठबंधनों में फासला बड़ा है। फिर भी 51 साल बाद होने जा रहा यह चुनाव दिलचस्‍प बन गया है।

LIVE Vidhan Sabha Speaker Chunav:

 01: 11 बजे – कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजित शर्मा  ने सदन में संबोधन के साथ ही स्‍पीकर विजय कुमार सिन्‍हा को बधाई दी । वाम दल की ओर से महबूब आलम ने अध्यक्ष चुने जाने पर विजय सिन्‍हा को बधाई दी और अपनी अपेक्षाएं बताई ।  वीआइपी के अध्यक्ष और मंत्री मुकेश सहनी ने धन्यवाद देते हुए लालू यादव पर निशाना साधा। बोले जेल से फोन नहीं करना चाहिए था। संविधान और नियमों को  ध्यान रखना चाहिए हम प्रमुख जीतन राम मांझी में भी बधाई दी। एमआएमआएम के अख्‍तरूल ईमान ने  बधाई दी। लोजपा के राज किशोर सिंह ने बधाई दी।

 12: 59 बजे –  तेजस्वी यादव का सम्बोधन शुरू, तेजस्वी ने कहा बहुत ही जिम्मेदारी से भरा पद है। बहुत बहुत बधाई। हम वैशाली से जीत कर आए है, जो दुनिया मे लोकतंत्र की जननी है। मेरा सभी से अनुरोध है  कि संविधान की रक्षा करें। सच को जितना भी छुपाये वह समय समय पर निकल आता है। झूठ और असत्य का साथ नहीं दे सकते हैं ।  विपक्ष की ओर से और अपने विधान सभा क्षेत्र राघोपुर की ओर से स्‍पीकर विजय सिन्‍हा को शुभकामनाएं और बधाई दी ।

 12: 44 बजे – मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सदन में सम्बोधन शुरू।  नवनियुक्त अध्यक्ष को बधाई दी

 उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने विजय सिन्हा को  अध्यक्ष चुने जाने की बधाई दी । इसके बाद डिप्‍टी सीएम रेणु देवी ने भी नए स्‍पीकर को बधाई दी । पूर्व स्‍पीकर विजय कुमार चौधरी ने बधाई दी और कहा कि आश्‍वास्‍त करना चाहता हूं कि सदन के सदस्‍य जो भी जनहित के मुद्दे उठाएंगे उसपर स्‍पीकर महोदय सार्थक बहस कराएंगे।

12: 44 बजे – स्‍पीकर विजय कुमार सिन्‍हा ने सबका आभार जताया ।

 12: 32 बजे – प्रोटेम स्‍पीकर जीतन राम मांझी ने चुनाव प्रक्रिया संपन्‍न होने की घोषणा की। मतों की गिनती पूरी हो गई है। सदस्‍यों से  आसन पर बैठने का अनुरोध किया। कहा वोटिंग हो चुका है।कहा- हां के पक्ष में 126 और ना के पक्ष में 114 वोट पड़े । हां के पक्ष में बहुमत है। श्री विजय कुमार सिन्‍हा बिहार विधान सभा के स्‍पीकर निर्वाचित हुए।उन्‍होंने सीएम नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव से स्‍पीकर महोदय को आसन ग्रहण करवाने का आग्रह किया।

 12: 32 बज – विपक्ष के  विरोध और नारेबाजी के बाद सीएम नीतीश कुमार सदन से बाहर निकले। अब फिर से शुरू हुई अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया। प्रोटेम स्पीकर मत विभाजन करा रहे। प्रोटेम स्‍पीकर कह रहे हैं कि परिणाम आते ही वे सुनाएंगे। विपक्ष अब भी गुप्‍त मतदान की मांग कर रहा है।

 12: 26 बजे –  सीएम नीतीश कुमार को सदन से बाहर करने की विपक्ष की लगातार मांग पर  प्रोटेम स्‍पीकर ने कहा कि यहीं सदन है , जब राबड़ी देवी मुख्‍यमंत्री थीं तब लालू प्रसाद यादव एमपी होते हुए भी सदन में मौजूद थे।

 12: 24 बजे –  प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव के लिए फिर से गिनती कराई ।  जो खड़े हैं, उनकी गिनती हो रही है। विपक्ष के सदस्‍य जो बैठे हैं, उनकी भी गिनती हो रही है। बता दें कि ध्‍वनि मत से फैसला नहीं होने पर सदस्‍य  खड़े होकर पक्ष में मत दे रहे हैं।

 12: 21 बजे – सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होते ही सीएम की उपस्थिति पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने फिर सवाल उठाए । लेकिन प्रोटेम स्‍पीकर ने कहा कि नीतीश कुमार सदन के नेता हैं। उनकी मौजूदगी होनी चाहिए। स्‍पीकर चुने जाने के बाद वे ही अध्‍यक्ष को कुर्सी तक लेकर जाएंगे

 12: 16 जे – प्रोटेम स्‍पीकर अपनी कुर्सी पर आकर बैठ गए हैं। कुछ ही देर में सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हो जााएगी।

12: 08 बजे – स्‍पीकर पद की चुनाव की प्रक्रिया संपन्‍न हो चुकी है। सदन की कार्यवाही दोबारा शुरूहोते ही प्रोटेम स्‍पीकर जीतन राम मांझी थोड़ी ही देर में परिणाम की घोषणा करेंगे।

 12: 02 बजे – प्रोटेम स्पीकर के आसन का घेराव कर लगातार नारेबाजी कर रहे हैं । जीतनराम मांझी ने सदस्‍यों को शांत करा पांच मिनट के लिए सदन की कार्यवाही स्‍थगित की ।

11: 59 बजे – विधानसभा में अब मत विभाजन की प्रक्रिया शुरू। प्रोटेम स्पीकर ने कहा कि दूसरे सदन के सदस्य वोट नहीं करेंगे। विपक्ष सीक्रेट वोटिंग पर अड़ा, तेजस्वी ने प्रोटेम स्पीकर मांझी से कहा- ये सरकार चोर दरवाजे से बनी है। राजग के सदस्य मत विभाजन के लिए अपनी सीट पर खड़े हो गए हैं, लेकिन विपक्ष अभी भी हंगामे पर उतारू है। प्रोटेम स्पीकर ने कहा कि अगर विपक्ष के पास सदस्यों की पर्याप्त संख्या है तो खड़े होकर मत विभाजन प्रक्रिया में शामिल हों और परंपरा का निर्वहन करें। उन्होंने सभा वेश्म में खड़े विपक्ष के सदस्यों से आग्रह किया कि अपनी सीट पर जाएं और चुनाव शांति से संपन्न हो जाने दें।

 11: 54 बजे – तेजस्वी ने प्रोटेम स्पीकर के समक्ष जनादेश चोरी का आरोप लगाया ।  विपक्ष लगा रहे नारे –सदन से बाहर जाओ–सदन से बाहर जाओ।  कानून के जानकार सुभाष कश्यप ने विपक्ष के विरोध को खारिज किया। कहा कि अध्यक्ष पद के चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री एवं अन्य मंत्रियों का रहना गैर संवैधानिक नहीं है। यह प्रोटेम स्पीकर के विवेक पर निर्भर करता है कि वह अनुमति देते हैं  या नहीं !

11: 51 बजे – विजय चौधरी बोले-जब मतदान की बात आती है और आसन कहता है कि सदस्य खड़े होकर मत विभाजन की प्रक्रिया पूरी करें तो जो इस सदन के सदस्य नहीं होते हैं वे खड़ें नहीं होते हैं। इसलिए नीतीश कुमार समेत अन्य मंत्रियों की मौजूदगी पर विपक्ष का विरोध का कोई मतलब नहीं है।

 11: 49 बजे – मुख्यमंत्री को सदन से बाहर करने को ले लगातार  नारेबाजी हो रही है । स्पीकर पद के चुनाव के लिए विधानसभा में कराया जा रहा मत विभाजन। प्रोटेम स्पीकर ने व्यवस्था दी कि जो सदन की सदस्यता की शपथ ले चुके हैं वही मत प्रक्रिया में शामिल हो सकेंगे

11: 45 बजे – सदन में सीएम नीतीश कुमार, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी की उपस्थिति पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी  यादव ने आपत्ति जताई ।  इसपर प्रोटेम स्पीकर बोले जो सदन के सदस्य हैं, वही मतदान में शामिल होंगे।नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के नाते सदन में रह सकते हैं वोट में भाग नही लेंगे । इसके बाद विपक्ष के नेता वेल में आकर कर रहे प्रदर्शन

11: 44 बजे – विपक्ष गुप्त मतदान पर अड़ा। मगर प्रोटेम स्‍पीकर जीतन राम मांझी ने कहा कि गुप्त मतदान का कोई प्रावधान नहीं है

11: 43 बजे –  वॉइस वोटिंग शुरू की गई। मगर  विपक्ष की आपत्ति के बाद प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने कहा कि जो पक्ष में है वह खड़े हो जाएं ।

11: 39 बजे – एआइएमआइएम के प्रदेश अध्‍यक्ष ने स्‍पीकर के चुनाव के ऐन पहले सदन में कहा कि स्‍पीकर पद के लिए सर्वसम्मितति बनाने की जो परिपाटी रही है, उसे बरकरार रखना चाहिए ।

बता दें कि मंगलवार (24 नवंबर) देर रात तक ग्रांड एलायंस डेमोक्रेटिक फ्रंट के संयोजक एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र प्रसाद यादव की अध्यक्षता में बैठक होती रही। हालांकि सबने माना कि विधानसभा अध्यक्ष का पद गरिमामय होता है। इसे लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए। किंतु किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सका। आखिर में एआइएमआइएम के विधायकों ने निर्णय लेने का अधिकार असदुद्दीन ओवैसी को सौंप दिया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News