संबित पात्रा की याचिका पर अब 11 जनवरी को छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट में होगी अंतिम सुनवाई

बिलासपुर। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ दर्ज आपराधिक मामले को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई टल गई है।

ट्विटर पर 1984 के दंगों के लिए पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को ठहराया था जिम्मेदार

पात्रा ने नौ व 10 मई 2020 को अपने ट्विटर हैंडल से 1984 के दंगों के लिए पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को जिम्मेदार ठहराया था। यूथ कांग्रेस ने इसे मानहानि और हिंसा भड़काने का प्रयास बताते हुए रायपुर के सिविल लाइन व भिलाई में अलग-अलग दो आपराधिक मामले दर्ज कराए थे। अब मामले की अंतिम सुनवाई 11 जनवरी को होगी।

भाजपा नेता ने अपने खिलाफ दर्ज आपराधिक मामले को बिलासपुर हाई कोर्ट में दी चुनौती

हाई कोर्ट ने पात्रा को जवाब पेश करने के निर्देश दिए हैं। पात्रा ने इसके खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर कर आपराधिक मामले को निरस्त करने व पुलिसिया कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की है। पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पात्रा को राहत देते हुए आपराधिक मामले में कार्रवाई पर रोक लगा दी थी।

जस्टिस अग्रवाल ने आपराधिक मामले की अंतिम सुनवाई के लिए तय की 11 जनवरी

बुधवार को सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता की तरफ से वकील शरद मिश्रा पेश हुए, लेकिन पात्रा की ओर से जवाब प्रस्तुत नहीं किया गया। इस पर जस्टिस संजय के. अग्रवाल ने वकील को जवाब पेश करने के निर्देश दिए। साथ ही मामले की अंतिम सुनवाई के लिए 11 जनवरी 2021 की तिथि तय की है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News