Cover
ब्रेकिंग
याेगी सरकार ने लव जिहाद कानून काे दी मंजूरी, साधू संतों ने फैसले का किया स्वागत अहमद पटेल के निधन पर बोले दिग्विजय- वे सभी कांग्रेसियों के लिए हर राजनैतिक मर्ज़ की दवा थे विजय सिन्‍हा चुने गए स्‍पीकर ,पक्ष में पड़े 126 वोट, विपक्ष में 114 नगरोटा साजिश के पीछे था पाक का हाथ! आतंकियों के पास से मिले डिवाइस ने खोले कई राज राहुल गांधी ने किए तरुण गोगोई के अंतिम दर्शन, बोले- मैंने अपने गुरु को खो दिया चौहान, कमलनाथ, दिग्विजय, सिंधिया ने पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया अहमद पटेल के निधन पर बोले दिग्विजय- वे सभी कांग्रेसियों के लिए हर राजनैतिक मर्ज़ की दवा थे आज तमिलनाडु के तटों से टकराएगा 'निवार', MP में दिखेगा असर, बदलेंगे मौसम के मिजाज UP के बाद मध्य प्रदेश में जल्द बनेगा लव जेहाद के खिलाफ कानून, गृहमंत्री ने बुलाई अहम बैठक पश्चिम रेलवे की पहली किसान रेल सेवा शुरु, सांसद शंकर लालवानी ने दिखाई हरी झंडी

‘लव जिहाद’ के नाम पर धर्म परिवर्तन पर रोक के लिए कड़े कदम उठाएगी सरकार: येदियुरप्पा

बेंगलुर। लव जिहाद के नाम पर धर्म परिवर्तन कराने के खिलाफ उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बाद अब  कर्नाटक सरकार सख्त फैसला लेने जा रही है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि सरकार लव जिहाद के नाम पर धर्म परिवर्तन पर रोक लगाने के लिए कड़े कदम उठाएगी।

इससे पहले कर्नाटक के पर्यटन मंत्री सी.टी. रवि ने कहा कि विवाह के लिए धर्म परिवर्तन कराने के खिलाफ उनके राज्य में भी कड़ा कानून बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं के सम्मान से खिलवाड़ करने वाले ‘जिहादियों’ के खिलाफ उनकी सरकार चुप होकर तमाशा नहीं देखेगी।

उल्लेखनीय है मंत्री का बयान इलाहाबाद हाई कोर्ट द्वारा विवाह के लिए धर्म परिवर्तन को अवैध ठहराए जाने के कुछ दिन बाद आया है। इससे पूर्व भाजपा शासित उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश की सरकारें भी ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून बनाने की घोषणा कर चुकी हैं। सीटी रवि ने एक ट्वीट में कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के परिप्रेक्ष्य में कर्नाटक सरकार शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ जल्द ही कानून बनाएगी। धर्म परिवर्तन में जो भी शामिल होगा उसके खिलाफ जल्द से जल्द कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शादी के लिए किए धर्म परिवर्तन को अवैध बताया

बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 31 अक्टूबर 2020  को दिए अपने एक फैसले में शादी के लिए किए धर्म परिवर्तन को अवैध ठहरा दिया था। कोर्ट ने यह फैसला एक शादीशुदा जोड़े की याचिका पर दिया था जिसने कोर्ट से पुलिस और लड़की के पिता को परेशान न करने का निर्देश देने का आग्रह किया था। याचिका में कहा गया कि इस जोड़े ने इसी साल जुलाई में शादी की थी लेकिन अब लड़की के स्वजन उनकी जिंदगी में हस्तक्षेप कर रहे हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News