Cover
ब्रेकिंग
Rhea Chakraborty के भाई शौविक चक्रवर्ती को लगभग 3 महीने बाद मिली ज़मानत, ड्रग्स केस में हुई थी गिरफ़्तारी कांग्रेस का आरोप, केंद्र सरकार ने बैठक कर किसानों की आंखों में झोंकी धूल मुंबई: यूपी फिल्म सिटी निर्माण पर बोले सीएम योगी आदित्यनाथ- हम यहां कुछ लेने नहीं, नया बनाने आए कर्नाटक में जनवरी-फरवरी में कोविड-19 की दूसरी लहर की आशंका, लोगों में डर का माहौल दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर सख्त NGT, क्रिसमस-नए साल पर पटाखे नहीं चला पाएंगे लोग जाधव के लिए वकील नियुक्ति मामले पर विस्तार से चर्चा की सलाह, अहलूवालिया रखेंगे भारत का पक्ष पीड़िता बोली- ससुर करता था अश्लील हरकतें, 2 महीने की बच्ची पर भी तरस नहीं किया, दे दिया तीन तलाक भगवान को ठंड से बचाने के लिए भक्तों ने ओढ़ाए गर्म वस्त्र भूमाफिया बब्बू और छब्बू पर चला प्रशासन का डंडा, अवैध निर्माण जमींदोज दर्दनाक हादसे का सुखद अंत: 3 लोगों समेत अनियंत्रित बोलेरो गहरी नदी में समाई

गोंडा में तीन दलित बेटियों पर तेजाब फेंकने वाला मुठभेड़ में गिरफ्तार, दाहिने पैर में लगी गोली

गोंडा। उत्तर प्रदेश के गोंडा में तीन बहनों पर एसिड फेंकने के मामले में आरोपित आशीष की मंगलवार की रात पुलिस से मुठभेड़ हो गई। आरोपित के दाहिने पैर में गोली लगी है। इलाज के लिए उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।

घेराबंदी कर आरोपित को दबोचा 

एसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि एसिड कांड के मामले में छानबीन की जा रही थी। इस मामले में गांव के ही आशीष का नाम सामने आया था। पुलिस व स्वाट टीम को आशीष की तलाश में लगाया गया था। मंगलवार की रात पुलिस को सूचना मिली कि आशीष बाइक से कर्नलगंज के रास्ते हुजूरपुर मार्ग से होते हुए निकल रहा है। इस पर पुलिस टीम ने घेराबंदी की। सोनवार गांव के पास पुलिस व आरोपित आशीष आमने-सामने आ गए। एएसपी महेंद्र कुमार के मुताबिक, पुलिस ने उसे रूकने का इशारा किया, जिस पर आशीष ने पुलिस पर फायर कर दिया। जवाब में पुलिस ने भी फायर किया। इसमें एक गोली आशीष के दाहिने पैर में लगी, वह बाइक समेत गिर पड़ा। इसके बाद पुलिस ने उसे सीएचसी ले आई। अधीक्षक डॉ. सुरेश चंद्रा का कहना है कि घायल आशीष का इलाज किया जा रहा है।

सोते वक्त फेंका था तेजाब 

मामला परसपुर क्षेत्र के पसका गांव का है। जहां के रामऔतार (बदला नाम) की तीन बेटियों पर सोते समय तेजाब फेंका गया है। इन तीनों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। इसके साथ ही पुलिस मामले की जांच कर रह रही है। गोंडा के परसपुर थाना क्षेत्र के पसका गांव के सदस्य क्षेत्र पंचायत (बीडीसी) अनुसूचित जाति रामऔतार (बदला नाम) की तीन बेटियों पर सोते समय तेजाब फेंका गया। इसमें बड़ी बेटी का चेहरा झुलस गया है। जबकि दो बेटियों का शरीर आशिंक रूप से जला है। तीनों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। जिस कमरे में बेटियां सो रही थीं। वहां से उनका टूटा हुआ मोबाइल फोन मिला है। इसके साथ ही तेजाब की बोतल भी घर के बाहर मिली है

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News