Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

Delhi Ramlila Guidelines: दिल्ली में होंगी रामलीला और दुर्गा पूजा, नहीं लगेंगे मेले, झूले और फूड स्टॉल

नई दिल्ली।  लंबे समय से चले आ रहे संशय पर विराम लगाते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने त्योहारों के लिए गाइडलाइंस जारी करते हुए रामलीला मंचन और दुर्गा पूजा के लिए सशर्त मंजूरी दे दी है। इस आशय के आदेश रविवार देर शाम मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने जारी किए। हालांकि पंडाल के पास मेले, झूले और फूड स्टॉल लगाने की अनुमति नहीं दी गई है। मालूम हो कि दैनिक जागरण ने शुक्रवार के अंक में ही यह खबर प्रकाशित कर दी थी कि डीडीएमए रामलीला मंचन एवं दुर्गा पूजा के लिए जल्द ही मंजूरी दे सकती है। डीडीएमए के आदेश के मुताबिक जिला अधिकारी और डीसीपी संयुक्त निरीक्षण के बाद पूजा पंडाल और रामलीला के लिए मंजूरी देंगे।

आयोजकों को पूरे कार्यक्रम की वीडियोग्राफी करानी होगी। बगैर मास्क के जाने की इजाजत नहीं होगी और सामाजिक दूरी का पालन करना आवश्यक होगा। इसके साथ ही आने और जाने के लिए आयोजक अलग-अलग गेट बनवाएंगे। लोगों की मौजूदगी को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से 30 सितंबर को जारी किए गए आदेश का पालन करना होगा। गृह मंत्रालय ने अपने आदेश में कहा था कि बंद जगह पर कुल क्षमता के 50 फीसद लोग ही उपस्थित रहेंगे। वहीं खुले स्थानों पर शारीरिक दूरी का पालन करना जरूरी होगा।

डीडीएमए ने अपने आदेश में कहा है कि कोई भी व्यक्ति पूजा पंडाल या त्योहार के लिए होने वाले आयोजन में खड़ा नहीं रहेगा और न ही जमीन पर बैठेगा। शारीरिक दूरी के नियमों के साथ केवल कुर्सी पर बैठने की इजाजत होगी। इसके लिए भी कोरोना से बचाव के सभी नियमों का पालन करना आवश्यक होगा। साथ ही अस्थायी टॉयलेट, बिजली, पानी, सैनिटाइजर और थर्मल स्कै¨नग की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी आयोजकों की होगी। प्रत्येक दुर्गा पूजा पंडाल व रामलीला स्थल पर एक जिलाधिकारी व डीसीपी नोडल अधिकारी तैनात करेंगे।

नोडल अधिकारी डीडीएमए द्वारा जारी निर्देश का पालन कराएंगे। डीडीएमए के आदेश में कहा गया है कि प्रत्येक रामलीला स्थल या दुर्गा पूजा पंडाल की आयोजक द्वारा वीडियोग्राफी कराई जाएगी जिस पर नोडल अधिकारी नजर रखेंगे। कार्यक्रम के पहले दिन से आखिरी दिन तक लगातार प्रतिदिन वीडियोग्राफी करानी होगी। इसके अलावा जिलाधिकारी भी वीडियोग्राफी कराएंगे। अपने क्षेत्र के तमाम रामलीला स्थलों के बारे में जिलाधिकारी व डीसीपी रोजाना दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव को रिपोर्ट भेजेंगे कि सभी गाइडलाइंस का सख्ती से पालन किया जा रहा है। आयोजकों द्वारा सभी निर्देशों का पालन करना आवश्यक होगा अन्यथा कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News