Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

Major First Look: 26/11 मुंबई हमले में शहीद हुए मेजर संदीप उन्नीकृष्णन की बायोपिक का फ़र्स्ट लुक रिलीज़

नई दिल्ली। देश को हिला देने वाले मुंबई अटैक्स में शहीद हुए मेजर संदीप उन्नीकृष्णन की बायोपिक मेजर का फ़र्स्ट लुक रिलीज़ कर दिया गया है। हिंदी और तेलुगु में बन रही फ़िल्म में अदिवी शेष मेजर उन्नीकृष्णन के किरदार में हैं। अदिवी ने फ़र्स्ट लुक अपने इंस्टाग्राम एकाउंट से शेयर किये हैं।

मेजर के फ़र्स्ट लुक पोस्टर हिंदी और तेलुगु में जारी किये गये हैं। पोस्टर पर अदिवी मेजर उन्नीकृष्णन के इंटेंस लुक में दिख रहे हैं। मेजर अगले साल गर्मियों में रिलीज़ होने वाली है। मेजर का निर्देशन शशि किरण टिक्का द्वारा किया जा रहा है। फ़िल्म का निर्माण साउथ के सुपरस्टार महेश बाबू ने किया है। मेजर में शोभिता धूलिपाला और सई मांजरेकर अहम किरदारों में नज़र आएंगी।

एक बातचीत में फ़िल्म के निर्देशक शशि किरण ने इस कहा था- ”जब यह घटना हुई थी, हम में से कोई वहां नहीं था। उस वक़्त जो समाचारों में दिखाया गया था, वही हम सब जानते हैं। अपनी हम कल्पना से जो दिखाएंगे, उसमें वास्तविकता के रंग भरना ही सबसे बड़ी चुनौती है। इसे डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म के बजाए फीचर फ़िल्म के अंदाज़ में दिखाना अधिक चुनौतीपूर्ण है।”

इससे पहले 16 दिसम्बर को अदिवी ने एक पोस्टर शेयर करके फ़र्स्ट लुक रिलीज़ होने की जानकारी दी थी। इस पोस्टर पर किरदार की बैकसाइड दिखाई गयी थी।

अदिवी ने एक बातचीत में संदीप उन्नीकृष्णन को लेकर याद करते हुए कहा था- “मैं केवल यह कह सकता हूं कि उन्होंने मेरे जीवन को पहले क्षण से प्रभावित किया। यह 2008 की बात है, मुझे याद है, जब मैंने उनकी तस्वीर देखी थी, सभी चैनलों पर छायी हुई थी। मुझे नहीं पता था कि मतलब क्या है। मैं सोचता रहा कि यह आदमी कौन है। उनकी आंखों में एक अनोखी दीवानगी थी और होठों पर हल्की सी हंसी। मैं इसे समझ नहीं सका। वे ऐसे दिखते थे, जैसे कि मेरे परिवार के सदस्यों में से एक हों। एक चचेरा भाई, और फिर मुझे पता चला, वह मेजर संदीप उन्नीकृष्णन थे और उन्होंने देश के लिए अपनी जान दे दी। मैं उनकी आइकॉनिक पासपोर्ट तस्वीर को देखता रह गया।”

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News