Cover
ब्रेकिंग
शादी के बाद एक्स ब्वॉयफ्रेंड कुशाल टंडन से टकराईं गौहर ख़ान, दिया ये रिएक्शन राहुल के इटली ट्रिप पर भाजपा का निशाना, शिवराज बोले- स्‍थापना दिवस पर ‘9 2 11’ हो गए, कांग्रेस ने दी सफाई पीएम मोदी, भाजपा के अन्य शीर्ष नेताओं ने दी श्रद्धांजलि दर्ज हुए 20 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले, 279 मौत; जानें अब तक का पूरा आंकड़ा उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS में कराएंगे उपचार, कोरोना से हैं संक्रमित देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो को पीएम ने दिखाई हरी झंडी, दिल्ली में रफ्तार भरने लगी ट्रेन किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस Year 2021- नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के चार गजब नजारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत शीतकालीन सत्र पर बोले नरोत्तम, सरकार की कोशिश कि इसे न टाला जाए, कांग्रेस पर भी साधा निशाना MP के इस गांव में न सड़क है न कोई सुविधा, खाट पर रखकर ग्रामीण 3 KM ले गए शव

बाबरी केस:जज सुना रहे थे फैसला, बेटी का हाथ थामे दिखे आडवाणी…बरी होने पर बोले-जय श्रीराम

अयोध्या में बाबरी मस्जिद ढहाए जाने के मामले में बुधवार को सीबीआई की विशेष अदालत ने लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी समेत सभी 32 आरोपी बरी हो गए हैं। वहीं सीबीआई कोर्ट के जज जब ऐतिहासिक फैसला सुना रहे थे तब आडवाणी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मौजूद हुए। इस दौरान आडवाणी अपनी बेटी का हाथ थामे नजर आए। वहीं कोर्ट का फैसला आने के बाद आडवाणी ने खुशी जाहिर की और जय श्रीराम का नारा लगाया। फैसले के बाद आडवाणी अपने घर से बाहर आए और मीडिया से बात करते हुए कहा कि आज हम सबके लिए खुशी का दिन है। आखिरकार सच की जीत हुई। बता दें कि बढ़ती उम्र के कारण आडवाणी कोर्ट में शामिल नहीं हुए। वे अपने घर से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए सुनवाई में शामिल हुए।

वहीं कोर्ट का फैसला आने के बाद भाजपा में खुशी की लहर है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने वरिष्ठ नेता को बधाई दी है। वहीं, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद आडवाणी के घर पहुंचे हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि देर से ही सही पर न्याय की जीत हुई। 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद गिरने के बाद फैजाबाद में दो FIR दर्ज कराई गई थी। अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद का विवादित ढांचा गिराए जाने के मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई थी जिसमें लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह महंत नृत्य गोपाल दास, साध्वी ऋतंभरा, रामविलास वेदांती, धरम दास, सतीश प्रधान, चंपत राय, पवन कुमार पांडेय समेत  कुल 49 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी, इनमें से 17 का निधन हो चुका है और 32 पर सुनवाई चल रही थी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News