Cover
ब्रेकिंग
नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय अर्नब को अंतरिम बेल देने के कारणों को SC ने किया स्पष्ट, कहा- पुलिस FIR में लगाए गए आरोप नहीं हुए साबित आईआईटी और एनआईटी मातृभाषा में इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम चलाएंगे, IIT-BHU में हिंदी से होगी शुरुआत गुजरात: राजकोट के कोरोना अस्पताल में लगी भीषण आग, 5 मरीजों की मौत मुख्यमंत्री ने सिद्धू के साथ कयासबाजियों को किया खारिज, हरीश रावत के प्रयास से मिटी दूरियां डोनाल्ड ट्रंप ने मान ली अपनी हार, बोले- छोड़ दूंगा व्हाइट हाउस मतदाताओं से संपर्क स्थापित करें कार्यकर्ता: स्वतंत्र देव पाकिस्तान ने ठंडे बस्ते में डाले भारत के डोजियर, तमाम सुबूतों के बावजूद साजिशकर्ताओं पर नहीं कसा शिकंजा

फडणवीस से संजय राउत ने क्यों की मुलाकात?, पूर्व मुख्यमंत्री ने बताया सच

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना सांसद संजय राउत की शनिवार को हुई मुलाकात के बाद राजनीतिक गलियारों में अटकलों का बाजार बाजार काफी गर्म था। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इन अटकलों पर विराम लगाते हुए राउत से मुलाकात के पीछे की वजह बताई। फडणवीस ने कहा कि भाजपा शिवसेना के साथ फिर से एक नहीं होने जा रही है बल्कि राउत ने उनसे मुलाकात अपने मुखपत्र सामना में इंटरव्यू के लिए की थी। वहीं महाराष्ट्र भाजपा के मुख्य प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने कहा कि इस मुलाकात के कोई राजनीतिक मायने नहीं है।

प्रवक्ता ने ट्वीट किया कि राउत ने (शिवसेना के मुखपत्र) सामना के लिए फडणवीस का इंटरव्यू लेने की इच्छा व्यक्त की थी और इसी बारे में चर्चा करने के लिए यह मुलाकात हुई थी। प्रवक्ता ने कहा कि फडणवीस ने राउत से कहा है कि वह बिहार में चुनाव प्रचार करके लौटने के बाद उन्हें इंटरव्यू देंगे। इस भेंट का कोई राजनीतिक संदर्भ नहीं है।शिवसेना और भाजपा ने पिछले साल विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ा था, लेकिन चुनाव के बाद सत्ता में साझेदारी को लेकर उद्धव ठाकरे नीत पार्टी भाजपा का साथ छोड़ गई थी और राकांपा तथा कांग्रेस के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बना ली थी। राउत विधानसभा चुनाव के बाद सत्ता बंटवारे के फार्मूले को लेकर भाजपा विरोधी रुख के लिए सुर्खियों में थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News