Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

भारत-चीन सीमा पर बढ़ी टेंशन, कश्मीर में दो महीने के लिए LPG स्टॉक करने का आदेश

श्रीनगरः लद्दाख में गलवान घाटी पर हिंसक झड़प के बाद भारत-चीन के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। इस बीच जम्मू-कश्मीर सरकार के आदेश के बाद वहां के लोगों में चिंता और बढ़ गई हैं। दरअसल, जम्मू-कश्मीर में सरकार ने दो महीने के लिए एलपीजी सिलेंडर का स्टॉक करने का आदेश दिया है। इसके अलावा सुरक्षाबलों के लिए स्कूल को खाली करने का आदेश भी दिया गया है।

लद्दाख में भारत-चीन के बीच जारी तनातनी के बीच अब जम्मू-कश्मीर सरकार ने दो अलग-अलग आदेश जारी किए हैं, जिसके कारण वहां के लोगों में चिंता बढ़ती हुई दिखाई दे रही है। इनमें एक आदेश में कश्मीर में लोगों से कम से कम दो महीने के लिए एलपीजी सिलेंडर का स्टॉक करने के लिए कहा गया है।

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर सरकार की ओर से एक दूसरा आदेश भी जारी किया गया है। दूसरे आदेश में गांदरबल में सुरक्षाबलों के लिए स्कूल की इमारतों को खाली करने के आदेश दिए गए हैं। कश्मीर में गांदरबल जिला लद्दाख के कारगिल से सटा हुआ है।

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के सलाहकार ने एक बैठक में घाटी में एलीपी के पर्याप्त स्टॉक को सुनिश्चित करने के लिए दिशानिर्देश दिए हैं क्योंकि भूस्खलन के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने के कारण आपूर्ति प्रभावित हो सकती है। इस आदेश को ‘मोस्ट अर्जेंट मैटर’ के रूप में वर्णित किया गया है।

खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ताओं के निदेशक के जरिए पारित आदेश में तेल कंपनियों से स्पष्ट रूप से कहा गया है कि वे रसोई गैस के पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध कराएं, जो दो महीने तक रह सकें। आमतौर पर अत्यधिक सर्दियों की परिस्थितियों के दौरान इस तरह के आदेश दिए जाते हैं, जब बर्फ या भारी बारिश के कारण सड़क ब्लॉक होने का गंभीर खतरा होता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

AIB News