Cover
ब्रेकिंग
दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को हटाने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- बात करके पूरा हो सकता है मकसद UP के अगले विधानसभा चुनाव में ओवैसी-केजरीवाल बिगाड़ सकते हैं विपक्ष का गणित सावधान! CM योगी का बदला मिजाज, अब कार से करेंगे किसी भी जिले का औचक निरीक्षण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका गांधी पाक सेना ने राजौरी मे अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की संत बाबा राम सिंह की मौत पर कमलनाथ बोले- पता नहीं मोदी सरकार नींद से कब जागेगी गृह मंत्री के विरोध में उतरे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे गिरफ्तार, फर्जी नक्सली मुठभेड़ को लेकर तनाव मोबाइल लूटने आए बदमाश को मेडिकल की छात्रा ने बड़ी बहादुरी से पकड़ा कांग्रेस बोलीं- जुबान पर आ ही गया सच, कमलनाथ सरकार गिराने में देश के PM का ही हाथ EC का कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश, चुनाव में पैसे के गलत इस्तेमाल का आरोप

असम: BTC चुनाव में भाजपा को बड़ा फायदा, अमित शाह ने जताया जनता का आभार

गुवाहाटी। असम (Assam) के बोडोलैंड क्षेत्रीय परिषद ( Bodoland Territorial Council- BTC) चुनावों में एनडीए को बहुमत मिला है। शनिवार को आए चुनाव परिणाम अगले साल होने वाले असम विधान सभा चुनाव (Assam Assembly Election 2021) का सेमीफाइनल माना जा रहा था। हालांकि, राज्य की सत्ताधारी पार्टी भाजपा (BJP) ने 2015 में जीती गई एक सीट की तुलना में इस बार नौ सीटों पर जीत दर्ज कर बड़ी बढ़त बनाई है। वहीं एनडीए के घटक दल यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) 12 सीटें मिली है।

बता दें कि बोडोलैंड क्षेत्रीय परिषद में कुल 46 सीटें हैं। इनमें से छह नामांकित होते हैं, जबकि 40 पर चुनाव होता है। इन 40 सीटों पर 7 और 10 दिसंबर को चुनाव हुए थे। इस साल की शुरुआत यानी फरवरी 2020 में बोडो शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद यह पहला चुनाव था।

पिछले 17 साल से बीटीसी पर शासन करने वाली बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (BPF) बहुमत के लिए जरूरी 21 सीटें जीतने में नाकाम रही है। उसे सिर्फ 17 सीटों पर जीत मिली है। 2015 में उसे 20 सीटें मिली थीं, जो इस बार तीन कम हैं। आतंकवादी से राजनेता बने हाग्रामा मोहिलरी के नेतृत्व वाला संगठन इस चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरा है।

पिछले चुनाव में बीपीएफ और भाजपा के बीच गठबंधन था। इस बार भाजपा ने केवल एकला चलो की नीति अपनाई बल्कि पूर्व सहयोगी बीपीएफ को कड़ी टक्कर भी दी। इससे पहले, असम भाजपा ने संकेत दिया था कि वह बीपीएफ के साथ 2021 के असम चुनावों में गठबंधन जारी रखना पसंद नहीं करेगी, जो केवल छह महीने दूर है।

कट्टरपंथी पार्टी यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) 12 सीटों के साथ इस चुनाव में उभरी है। इसका नेतृत्व छात्र-नेता से नेता बने प्रमोद बोरो ने किया है, जो बोडो शांति समझौते के प्रमुख हस्ताक्षरकर्ता हैं। इस बीच, विपक्षी कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल के नेतृत्व वाले ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के गठबंधन ने इस बार खराब प्रदर्शन किया है. उसे सिर्फ एक सीट मिली है।

असम चुनाव परिणाम पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि एनडीए ने असम बोडोलैंड प्रादेशिक परिषद चुनावों में बहुमत हासिल किया। हमारे सहयोगी यूपीपीएल, सीएम सोनोवाल, राज्य के मंत्री हेमंत बिस्वसरमा और पार्टी की असम इकाई को बधाई देता हूं। मैं असम के लोगों को विकसित नॉर्थ ईस्ट के प्रति पीएम के संकल्प में उनके निरंतर विश्वास के लिए धन्यवाद देता हूं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News