जम्मू कश्मीर में चुनाव प्रचार करने से रोका जा रहा है: उमर अब्दुल्ला

नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने बुधवार को कहा कि जम्मू कश्मीर में जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनाव कराने का क्या औचित्य है जब उम्मीदवारों को सुरक्षा कारणों का हवाला देकर प्रचार नहीं करने दिया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि गैर भाजपा उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार नहीं करने दिया जा रहा है और प्रशासन भाजपा की सहायता करने के लिए कुछ भी करने को तैयार है।

अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, “जम्मू कश्मीर में किस प्रकार के चुनाव कराए जा रहे हैं जहां प्रत्याशियों को प्रचार करने से रोका जा रहा है? क्या यही वह सुरक्षित और आतंक मुक्त जम्मू कश्मीर है जिसके बारे में गृह मंत्री ने कल ट्वीट किया था।” उन्होंने कहा कि भाजपा की विरोधी पार्टियों के उम्मीदवारों को लॉकअप में बंद किया जा रहा है।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, “जम्मू कश्मीर प्रशासन, भाजपा की सहायता करने के लिए सीमा से परे जा रहा है और सुरक्षा का हवाला देते हुए भाजपा के विरोधी दलों के प्रत्याशियों को लॉकअप में बंद किया जा रहा है। यदि चुनाव प्रचार के लिए सुरक्षा की स्थिति अनुकूल नहीं है तो चुनाव कराने की क्या जरूरत है।”

पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने भी कहा कि गैर भाजपा उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार नहीं करने दिया जा रहा है। मुफ्ती ने ट्वीट किया, “डीडीसी के चुनाव के लिए गैर भाजपा उम्मीदवारों को खुल कर चुनाव प्रचार नहीं करने दिया जा रहा है और सुरक्षा का हवाला देकर बंद किया जा रहा है। लेकिन भाजपा और उसके मुखौटे पूरे बंदोबस्त के साथ घूम रहे हैं। क्या यही वह लोकतंत्र है जिसके बारे में भारत सरकार ने कल अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति से फोन पर बात की।”

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

AIB News